समारोह में 100 से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति के लिये लेनी होगी अनुमति- कलेक्टर

Scn news india

 

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

रीवा- कलेक्टर इलैयाराजा टी की अध्यक्षता में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में संपन्न हुई। इस दौरान सिरमौर विधायक दिव्यराज सिंह सहित समिति के सदस्य उपस्थित रहे। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिले में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों के कारण विशेष सावधानी बरती जाय। लोगों को संक्रमण से बचाव के लिये सावधानी बरतने हेतु जागरूक किया जाय। बैठक में निर्णय लिया गया कि आगामी समय में होने वाले शादी-विवाह समारोह में 100 से अधिक लोगों की उपस्थिति के लिये प्रशासन से अनुमति लेनी होगी साथ ही बारात का चल प्रदर्शन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। बारात घर में क्षमता से आधे व्यक्ति ही उपस्थित रहें इसका कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जायेगा। कलेक्टर ने कहा कि शादी-विवाह के आमंत्रण पत्रों में कोविड के संक्रमण से बचाव हेतु आयोजक अपील मुद्रित करायें ताकि समारोह में शामिल होते समय लोग इसका पालन सुनिश्चित कर सकें। बैठक में सदस्यों ने नाइट कफ्र्यू लगाये जाने का प्रस्ताव रखा जिस पर कलेक्टर ने कहा कि यह प्रस्ताव शासन स्तर को प्रेषित कर दिया जायेगा।
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि प्रत्येक जिंदगी महत्वपूर्ण है। अत: सभी लोग संक्रमण से बचाव के उपाय अनिवार्यत: करें। मास्क लगायें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा लगातार अपने हाथों को सेनेटाइज करते रहें। उन्होंने कहा कि दुकानदार बिना मास्क लगाये व्यक्तियों को सामान न दें तथा अपनी दुकान में क्षमता से आधे लोगों को ही आने दें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करायें। कलेक्टर ने कहा कि कोविड के बचाव के लिये लोगों को जागरूक करने हेतु रोको-टोको अभियान चलाया जायेगा। दिशा-निर्देशों का पालन न करने वालों को पुलिस, नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से कोविड जागरूकता केन्द्र में समझाइश दी जायेगी ताकि लोग संक्रमण की गंभीरता को समझें। उन्होंने निर्देश दिये कि मास्क न लगाने वालों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही की जाय। उन्होंने बताया कि जिले में अभी तक 257 एक्टिव केस हैं तथा 3022 पॉजिटिव केस में 2735 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में कोविड के संक्रमण का रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से अधिक है। जिले में लगातार सेम्पल लिये जा रहे हैं तथा अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता है। उन्होंने धान खरीदी केन्द्रों व उचित मूल्य की दुकानों में कोविड से बचाव के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश खाद्य नियंत्रक को दिये। कलेक्टर ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन के गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रत्येक नागरिक को सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाने को अनिवार्य किया गया है। इसका पालन न करने पर जुर्माना अधिरोपित किया जायेगा। कक्षा एक से आठ तक समस्त स्कूल 31 दिसम्बर तक बंद रहेंगे। कक्षा 9 से 12 तक के स्कूली छात्र-छात्रायें स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप गाइडेंस के लिये खोले जा सकेंगे। बैठक में विधायक दिव्यराज सिंह ने कोरोना संक्रमण से बचाव व लोगों को जागरूक किये जाने के संबंध में बहुमूल्य सुझाव दिये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह ने कहा कि सभी दुकानदार अपने प्रतिष्ठानों में सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन करायें। ऐसा न करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर व्यापारी संघ के अध्यक्ष रमेश काली ने बताया कि रीवा शहर में अभियान चलाकर दुकानों में मास्क रखवाये जा रहे हैं ताकि यदि कोई व्यक्ति बिना मास्क के दुकान में आये तो उसे तत्काल मास्क लगाने के लिये दे दिया जाये। कार्यपालन यंत्री नगर निगम शैलेन्द्र शुक्ला ने बताया कि नगर निगम द्वारा संक्रमण से बचाव के दिशा-निर्देशों का पालन न करने वाले 65 लोगों के विरूद्ध कार्यवाही की गई है तथा यह कार्यवाही लगातार जारी रहेगी। बैठक में अपर कलेक्टर इला तिवारी, प्रभारी डीन मेडिकल कालेज डॉ. शशिधर गर्ग, यातायात उप अधीक्षक मनोज वर्मा, कमलेश सचदेवा, डॉ. प्रभाकर चतुर्वेदी सहित समिति के सदस्य उपस्थित रहे।