तवा नदी दुर्घटना में मृतक संजू के दोनो बच्चो के लालन पालन की जिम्मेदारी लेने आगे आये समाजसेवी

Scn news india

प्रवीण मलैया 

6 वर्ष पूर्व माता भी छोड़कर चले गई थी पिता संजू की मौत के बाद बच्चो के सामने जीवनयापन का संकट आया

भाजयुमो प्रदेश मंत्री दीपक उइके ने बेटी और समाजसेवी राकेश अरोरा ने बेटे की ली जिम्मेदारी

घोड़ाडोंगरी –शाहपुर से लोहे के सरिया लेकर चोपना जाते समय मंगलवार की रात को तवा नदी पुल से ट्रक गिरने से 6 युवक अकाल के मुंह मे चले गए थे इन सभी मे से ग्राम पंचायत कांन्हावाड़ी के पिपरी के पांच युवक की मृत्यु हो गई थी इन सभी युवकों के परिवार के लालन पालन की जिम्मेदारी इन्ही के कंधों पर थी इन मे से ज्यादातर युवाओ के छोटे छोटे बच्चे है दुर्घटना के बाद सांसद दुर्गादास उइके ने तत्काल इन सभी परिवारों से मिलकर अपनी सवेंदना व्यक्त की थी और तत्काल सहायता राशि प्रदान कर परिवार जनों को ढांढस बंधाया था मृतक युवाओ में से मृतक संजू के दो छोटे छोटे बच्चे है संजू की पत्नी छः वर्ष पूर्व दोनो बच्चो और पति संजू को छोड़कर चली गई थी जिससे माँ का साया इन बच्चो के सिर से उठ गया था पिछले पांच वर्षो से पिता संजू ही इन दोनों बच्चो का लालन पालन कर रहा था लेकिन तवा नदी में ट्रक गिरने से पांच युवकों में से संजू की भी मृत्यु हो गई थी जिससे उनके दोनों बच्चे ज्योति और अनूप के ऊपर से माँ बाप का साया उठ गया था जब सांसद दुर्गादास उइके के साथ संजू के घर पहुँचे तो दोनों बच्चो की दास्तां सुनकर श्री उइके की भी आंखे नम हो गई थी संजू के परिवार की दास्तां सुनकर सांसद श्री दुर्गादास उइके के साथ मौजूद भाजयुमो के प्रदेश मंत्री दीपक उइके और समाजसेवी राकेश अरोरा ने दोनो बच्चो की जिम्मेदारी लेने की बात वहाँ मौजूद सांसद श्री दुर्गादास उइके ने दोनों युवाओ के इस कदम की सराहना कर इसे प्रेरणादायक बताया
शुक्रवार शाम को भाजयुमो के प्रदेश मंत्री दीपक उइके और राकेश अरोरा ने मृतक संजू के घर पहुँचकर दोनो बच्चो से मुलाकात कर पूर्ण रूप से देखभाल करने और पढ़ाई लिखाई के बारे में विस्तार से चर्चा की और उन्हें अपने बच्चो की तरह लालन पालन करने की बात कही