इटावा की सागौन बगिया जुआरियों के लिए बनी पनाहगार ग्राम भुहारी में भी चल रहा जुआघर

Scn news india

दिलीप पाल
आमला। बोरदेही थाना क्षेत्रातंर्गत इटावा की सागौन बगिया इन दिनो जुआरियों के लिए पनाहगार बनती जा रही है। यहां रात तो दूर दिन में भी खुलेआम जुआ चल रहा है। इस क्षेत्र में जुए के साथ-साथ सट्टे का कारोबार भी जमकर फल-फूल रहा है। इसके अलावा गा्रम भुहारी में भी जुआघर संचालित किये जाने की जानकरी है। बताया जाता है कि बोरदेही के इटावा में 10 लोग मिलकर जुआघर संचालित कर रहे है, जिसमें, आमला, जिला मुख्यालय सहित अन्य जिले के जुआरी आकर दांव लगा रहे है। बड़ी संख्या में जुआरी वाहनों से जुआघर पहुंचते है और दोपहर से देर रात तक जुआ खिलाने का काम किया जाता है। आमला से ही तीन से चार वाहन रोजाना बोरदेही पहुंच रहे है। बोरदेही में जुआ चलने की सूचना पुलिस प्रशासन को होने के बाद भी जुआघर पर कोई कार्यवाही नही की जा रही है। वैसे तो बोरदेही थाना हमेसा सुर्खियों में रहता आया है, क्योंकि जब-जब अधिकारियों का वहाँ से स्थांतरण हुआ, वैसे ही अवैध गतिविधियां संचलित होना शरू हो जाती है। बीते दिनों बोरदेही थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया गया था और जैसे ही अधिकारी के लाइन हाजिर होने की सूचना मिली, अवैध कारोबार करने वाले सक्रिय हो गये। जिससे बोरदेही थाने का इटावा क्षेत्र अवैध गतिविधियों का गढ़ बनता जा रहा है।
किस्मत आजमाने के चक्कर में घर बर्बाद –
छुटमुट प्रकरण और इतिश्री – जुआ-सट्टे के कारोबार को पूरी तरह बंद करने पुलिस कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। कार्रवाही के नाम पर छुटमुट प्रकरण बनाकर इतिश्री कर ली जाती है। जुआ-सट्टे पर कठोर कार्रवाही नहीं होने के कारण यह कारोबार निरंतर बढ़ता जा रहा है। जिसकी चपेट में युवा वर्ग भी है। सूत्रों की माने तो पुलिस के कुछ वाशिंदों को इसकी जानकारी भी बाखूबी है। लेकिन यहां तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंच पा रहे और कभी कभार पुलिस यहां पहुंचती भी है तो उसके पहले ही इसकी जानकारी जुआरियों तक पहुंच जाती है और पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगता।
इनका कहना है….
आपके द्वारा जुआ खिलाए जाने की सूचना मिली है। जल्द ही कार्यवाही की जाएगी। -नम्रता सोंधिया, एसडीओपी मुलताई