बायोमेडिकल वेस्ट, इन्फेक्शन कंट्रोल एवं अग्निशमन यंत्र का नर्सिंग स्टॉफ एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का प्रशिक्षण आयोजित

Scn news india

बैतूल,
जिला चिकित्सालय में 18 नवंबर सोमवार को बायोमेडिकल वेस्ट, इन्फेक्शन कंट्रोल एवं अग्निशमन यंत्र का नर्सिंग स्टॉफ  एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का प्रशिक्षण आयोजित किया गयाा।
प्रशिक्षण में लक्ष्य कार्यक्रम अधिकारी एवं ब्लड बैंक नोडल अधिकारी डॉ. अंकिता सीते ने बायोमेडिकल वेस्ट की भंडारण प्रक्रिया की जानकारी देते हुए बताया कि बायोमेडिकल वेस्ट को कलर कोडिंग के अनुसार पॉलीथिन में बंद करके स्टोर करने के लिये केन्द्रीय स्टोरेज पर लाते हैं, जहां जब तक पर्याप्त मात्रा में यह बायोमेडिकल वेस्ट एकत्रित नहीं होता, इसे रखा जाता है। फिर इसे परिवहन के समुचित साधन से निस्तारण स्थल पर भेज दिया जाता है। बायोमेडिकल वेस्ट के संग्रहण तथा पृथक्करण के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई तथा इसके हानिकारक एवं अहानिकारक प्रकारों को समझाकर कोडिंग के तरीके भी बताये गये।
डॉ. सीते ने इन्फेक्शन कंट्रोल के बारे में बताया कि यह  हानिकारक व खतरनाक अपशिष्ट के कारण उत्पन्न खतरों से बचाव के लिये बहुत आवश्यक है। वेस्ट के सही मेनेजमेंट के अभाव के कारण होने वाले जलवायु तथा भूमि प्रदूषण को रोकने के लिये भी यह उतना ही आवश्यक है। अग्निशमन यंत्र आग से बचाव की एक युक्ति है जिसकी सहायता से छोटे प्रकार की आग को बुझाया जा सकता है । इसे प्राय: आपातकालीन परिस्थितियों में उपयोग किया जाता है, किंतु बहुत विकराल रूप ले चुकी आग के नियंत्रण हेतु यह उपयुक्त नहीं है। प्राय: अग्निशमन यंत्र में एक बेलनाकार दाब पात्र होता है जिसमें एक ऐसा पदार्थ भरा रहता है जिसे छोडऩे पर आग बुझाने में सहायता प्राप्त होती है। विभिन्न प्रकार की लकडी, कोयला, कागज, कपड़े, तेल, गैस एवं बिजली की आग के संबंध में जानकारी प्रदाय की गई। प्रशिक्षण में वरिष्ठ पैथॉलाजिस्ट डॉ. अशोक बारंगा उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-MP08D0011464/63122/2019/WEB)  Toll free No -07097298142
जनस
error: Content is protected !!