जयकारों और कोविड-19 के नियमों को अपनाते हुए किया भक्तों ने माँ दुर्गे की प्रतिमा का विसर्जन

Scn news india

आशीष उघड़े 

सारनी। विगत नौ दिनों से सारनी, पाथाखेड़ा, बगडोना, शोभापुर सहित कई नगरों एवं ग्रामो में माँ अम्बे की प्रतिमा विराजमान थी। जिसके बाद से नगर में काफी चहल पहल नजर आ रही है। नवरात्री के पावन पर्व पर विराजमान मां दुर्गा की नवमी के दिन हवन-पूजन कर भंडारे का आयोजन किया गया। जिसका भक्तजनों ने भी भरपूर आनंद लेकर प्रसाद ग्रहण कर माता का आशीर्वाद प्राप्त किया। जिसके बाद मां दुर्गे की प्रतिमा का विसर्जन 26 अक्टूबर सोमवार को हुआ। परंतु इस वर्ष कोविड-19 को लेकर प्रशासन द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को ध्यान में रखकर प्रतिमा विसर्जन किया गया।

जहां इस वर्ष नगर के राजडोह घाट पर प्रतिमा विसर्जन पर प्रतिबंध था, जिसका मुख्य कारण राजदोह पुल निर्माण कार्य पूरा ना होना बताया गया। ततपश्चात सतपुड़ा डैम पर पुलिस प्रशासन एवं नगर पालिका प्रशासन के द्वारा सुरक्षा के काफी पुख्ता इंतजाम के बीच माँ दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। जिसमें एसडीओपी अभयराम चौधरी, थाना प्रभारी महेंद्र सिंह चौहान, नपा स्वास्थ्य निरीक्षक केके भावसार सहित नपा के कर्मचारी एवं पुलिस प्रशासन के कर्मचारी मौजूद थे। वही सुरक्षा की दृष्टि को देखते हुए प्रत्येक विसर्जन स्थल पर गोताखोरों एवं सभी सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम किए गए हैं एवं जिसके लिए प्रशासन में भी काफी सक्रियता दिखाई दी।