सभी विसर्जन स्थलों पर विशेष व्यवस्था के साथ मूर्ति विसर्जन जारी

Scn news india
मनोहर
जिला प्रशासन की अगुवाई में सभी विसर्जन घाटों पर मूर्ति विसर्जन शांतिपूर्वक जारी  है। कलेक्टर और जिला दंडाधिकारी श्री अविनाश लवानिया ने सभी  एडीएम, एसडीएम और अन्य राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिया था कि सभी घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखी जाए  और कोई भी व्यक्ति बड़ी मूर्तियों के साथ घाट तक ना पहुंचे। मूर्ति विसर्जन पूरी तरह से नगर निगम और स्थानीय प्रशासन द्वारा किया जा रहा है।
   इसके बाद सभी घाटों पर  कल रात्रि 8:00 बजे से मूर्ति और ज्वारों का विसर्जन सभी विधि विधान के साथ जारी है,  जो लगातार 24 घंटे बाद भी जारी रहा है। बैरसिया,  बैरागढ़, प्रेमपुरा, खटलापुरा एवं अन्य घाटों पर बड़ी क्रेन,  स्लाइडिंग लिफ्ट के माध्यम से मूर्ति विसर्जन किया जा रहा है।

इसके लिए अन्य घाटों पर मूर्ति विसर्जन लगातार जारी है। सभी अधिकारी लगातार मूर्ति विसर्जन स्थलों पर ड्यूटी पर तैनात हैं, इसके लिए कंट्रोल रूम पर सभी व्यवस्थाओं के लिए लगातार निगाह रखी जा रही है। कंट्रोल रूम प्रभारी श्री संजय श्रीवास्तव ने बताया कि सभी घाटों पर मूर्ति विसर्जन शांतिपूर्वक किया जा रहा है।

    कोरोना संक्रमण  को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मूर्ति विसर्जन नगर निगम द्वारा किया जा रहा है। नाव से मूर्ति विसर्जन पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए सभी जगह गोताखोर ,लाइफ जैकेट, टॉर्च लाइट,और  जनरेटर की व्यवस्था की गई है।

डीआईजी श्री इरशाद वली ने बताया कि सभी जगह पुलिस और होमगार्ड के जवान तैनात किए गए हैं। सुरक्षा देखते हुए जगह-जगह बेरीकेटिंग के साथ चेकिंग की गई है और यह कोशिश की जा रही है कि कहीं भी संदिग्ध व्यक्ति  कार्यक्रम में शामिल ना हो इसके लिए लागातर सर्चिंग की जा रही है।

    सभी घाटों पर मूर्ति विसर्जन पूरे विधि विधान के साथ नगर निगम के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा निरंतर जारी है इसके लिए सभी घाटों पर विशेष रूप से बड़ी क्रेनों की विशेष  व्यवस्था के साथ ही स्लाइडिंग लिफ्ट की व्यवस्था भी की गई है जिसमें मूर्ति स्लाइडिंग रूप से विसर्जित की जा रही है व्यवस्थाएं लगातार समारोह समाप्त होने तक जारी रहेगी।इसके साथ ही पुलिस द्वारा लगातार विसर्जन मार्गों पर वीडियोग्राफी की जा रही है, लोगों की चेकिंग की जा रही है। महिलाओं और छोटे बच्चों को घाट के आस पास नहीं जाने के लिए भी निर्देश दिए गए है।