तुलसी सिलावट ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा , अब गोविन्द सिंह राजपूत की बारी

Scn news india

मनोहर

भोपाल-बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस से  तुलसी सिलावट ने आज मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। बता दे कि नियमों के अनुसार, कोई भी ऐसा व्यक्ति 6 माह से ज्यादा समय के लिए मंत्री नहीं रह सकता है, जो विधानसभा का सदस्य न हो। इस हिसाब से 21 अक्टूबर को मंत्री तुलसी सिलावट और गोविन्द सिंह राजपूत दोनों मंत्रियों की यह समय-सीमा समाप्त हो गई । जिसके चलते कांग्रेस ने आपत्ति जताई थी। छै माह के पुरे होने पर तुलसी सिलावट ने आज मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। अब उन्हें बिना मंत्री पद के चुनाव मैदान में जाना होगा। वहीँ उन्हें अब भत्ता और वाहन भी नहीं मिलेगा। सिर्फ सुरक्षा हेतु गनमेन उपलब्ध होगा। अभी गोविन्द सिंह राजपूत के इस्तीफे की खबर नहीं है लेकिन संवैधानिक नियमो के तहत उन्हें भी अपना इस्तीफा देना होगा। बता दे कि गोविंद सिंह राजपूत सुरखी और तुलसी सिलावट सांवेर से अपनी परंपरागत सीटों से उप चुनाव लड़ रहे हैं।