दो दिन से दुर्घटना में घायल हुआ बंदर का वन विभाग ने नही कराया उपचार

Scn news india

दिलीप पाल
जनसेवा जनकल्याण समिति ने लगया लाहपरवाही का आरोप

आमला. उपनगरी बोडखी क्षेत्र में बिजली के पोल पर एक बंदर चढ़ गया था उतरते समय बंदर घायल हो गया बंदर का उपचार हो सके उसके लिए जनसेवा कल्याण समिति के सदस्यों ने बोडखी पहुचकर बंदर का तत्काल प्रथमिक उपचार किया और वन विभाग को इसकी सूचना दी लेकिन वन विभाग ने दो दिन से बंदर का उपचार नही कराया बताया जाता है कि रात्रि में 10 बजे तक जनसेवा कल्याण समिति के सदस्यों ने जैसे तैसे बंदर को पकड़ कर उसका उपचार किया उसके बाद वन विभाग ने बंदर को पकड़ कर वन विभाग लेकर पहुचे उस बात को दो दिन बीत जाने के बाद भी बंदर का उपचार नही किया गया है जनसेवा कल्याण समिति के अध्यक्ष पंकज उसरेठे नर बताया कि बंदर के सर पर गहरी चोट आई है.

समिति के द्वारा बंदर का प्रथमिक उपचार मोके पर किया गया उसके बाद वन विभाग को इसकी सूचना दी गई वन विभाग द्वारा दो दिनों से बंदर का उपचार नही किया गया है बन्दर के सर से खून निकल रहा है बन्दर के साथ उसका छोटा सा बच्चा भी है पंकज उसरेठे ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों की लाहपरवाही है उनके द्वारा बंदर का उपचार नही कराया है जबकि बंदर वन्य प्राणी है ऐसे में वन विभाग की पूरी जिम्मेदारी बनती है लेकिन वन विभाग अपनी जिम्मेदारी से हट रहा है वन विभाग के अधिकारी कार्यालय में रहते ही नही है जब भी वन विभाग में किसी कार्य के लिए जाए तो अधिकारी कार्यालय में मिलते ही नही है जनसेवा कल्याण समिति के अध्यक्ष पंकज उसरेठे ने मुख्य वन संरक्षण अधिकारी से कार्यवाही की मांग की है।