तवा 1 खान में कोलकर्मी के साथ हुई घटना के मामले में नागपुर से आई डीडीएमएस ने की जांच

Scn news india

आशीष उघड़े 

सारनी। वेकोलि के तवा 1 माइंस में गुरुवार को हुई टिंबर मिस्त्री के साथ प्राण घातक घटना को लेकर जांच समिति द्वारा जांच की जा रही हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार तवा खदान में गुरुवार को छत का पत्थर गिरने से रविंद्र कोयला मजदूर टिम्बर मिस्त्री की घटना की जाँच के लिए नागपुर से डीडीएमएस से आए श्री मेथू, वेकोलि हेडक़्वाटर से आये आईएससो इंचार्ज जीपी खन्ना, वेकोलि सेफ्टी बोर्ड मेंबर बीएमएस के आरआर सिंह, इंटक के सेफ्टी बोर्ड मेंबर भरत सिंह और एरिया सेफ्टी कमेटी सदस्य बीएमएस से एसके लाल, बिंजवे, इंटक से सादिक़ रिज़वी एटक से अजय रगिला, रेड्डी, एचएमएस से रविंद्र पासवान और सीटू के हेमराज बिंझाडे ने बना कर खदान के अंदर दुर्घटना स्थल की निरक्षण किया। कामगार प्रतिनिधियों के द्वारा जानकारी दी गई की अभी खान सुरक्षा निदेशालय के अधिकारी के द्वारा जाँच किये जा रहा हैं। किसी निर्णय तक पहुंच पाना अभी संभव नहीं हैं, लेकिन ये मृतक की स्थिति देख के और जाँच स्थल के निरीक्षण के उपरांत यह कहा जा सकता हैं की रविंद्र टिम्बर मिस्त्री की दुर्घटना सपोर्ट खोलने के कार्य करते समय छत से एक मीटर लम्बा 20 सेंटीमीटर मोटा पत्थर सर पर गिरने से हुई हैं। वही शमशेर सिंह ओवरमैन और माइनिंग सरदार ने वर्करो के साथ मृतक को जल्द से जल्द सरफेस लाया गया और क्षेत्र के चिकित्सालय लाया गया। परन्तु हॉस्पिटल मे एमर्जेन्सी एक्सपर्ट, डॉक्टर और सुविधा ना होने की वजह से कामगार को बचाया नहीं जा सका। अगर हॉस्पिटल मे वेंटीलेटर और अन्य सुविधा होती तो शायद कामगार को बचाया जा सकता था।