बंगाल की खाड़ी पर 15 अक्टूबर को एक और डिप्रेशन उभरने की संभावना

Scn news india

मनोहर

दक्षिण पश्चिम मॉनसून की वापसी में 6 अक्टूबर से ब्रेक लगी हुई है। पूर्वी और मध्य भारत में आगामी दिनों में बारिश के जारी रहने के मद्देनजर, मॉनसून की वापसी में और देरी हो सकती है। इसके अलावा दक्षिणी प्रायद्वीप भारत पर उत्तर-पूर्वी मॉनसून की शुरुआत में देरी हो सकती है।
इस बीच यह सप्ताह पूर्वी और मध्य भारत के लिए सक्रिय मौसम वाला सप्ताह होने जा रहा है। एक नया डिप्रेशन 14-15 अक्टूबर को बंगाल की खाड़ी से उभरने की संभावना है। इस सिस्टम का भी समुद्री सफर पिछले सिस्टमों की तरह ही छोटा होगा। इसके बावजूद यह पोस्ट मॉनसून सीजन का पहल चक्रवाती तूफान बन सकता है। अगर ऐसा होता है, तो इसका नाम गति होगा और यह ओडिशा पर लैंडफॉल करेगा।
उत्तर भारत
उत्तर भारत पहाड़ी क्षेत्र इस सप्ताह भी कोई मौसमी नहीं देखेंगे। मैदानी राज्यों में भी सप्ताह के अधिकांश दिनों में मौसम साफ और शुष्क ही बना रहेगा। उत्तर प्रदेश और दक्षिण राजस्थान में सप्ताहांत में हल्की बारिश होगी। उत्तर और पश्चिमी राजस्थान और पड़ोसी हरियाणा के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 35 डिग्री से ऊपर बना रहेगा जो औसत से अधिक होगा।
पूर्व और पूर्वोत्तर भारत
बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में सप्ताह की पहले भाग में हल्की से मध्यम वर्षा की गतिविधियां होने की संभावना है। दूसरे भाग में इन राज्यों के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने का अनुमान है। इनमें से अधिकांश हिस्सों में 15 और 16 तारीख को मौसम की गतिविधियां हल्की हो जाएंगी। पूर्वोत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में 12 से 16 अक्टूबर के बीच बहुत भारी बारिश की उम्मीद नहीं है। हालांकि 17 और 18 अक्टूबर को अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में गरज के साथ छिटपुट वर्षा देखने को मिलेगी।
मध्य भाग
मध्य भागों पर पहुंचा डिप्रेशन मध्य भारत के सभी 5 राज्यों को प्रभावित करेगा। पूर्वी तट पर ओडिशा से शुरू होकर पश्चिम की ओर गुजरात तक इसका असर दिखेगा। ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में पूरे सप्ताह बारिश और गरज के साथ बारिश होगी। 12 से 15 अक्टूबर के बीच महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। सप्ताह के आखिर में अरब सागर में कोंकण और दक्षिण गुजरात तट पर एक चक्रवाती सिस्टम बनेगा इसके साथ गुजरात और कोंकण में 15 से 18 अक्टूबर के बीच मध्यम से भारी बारिश होगी। मुंबई में भी इस दौरान मध्यम से भारी बारिश का अनुमान है।
दक्षिण प्रायद्वीप
इस सप्ताह के शुरुआती दो-तीन दिनों के दौरान तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश, तटीय कर्नाटक और केरल में काफी व्यापक वर्षा होने की संभावना है। तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और रायलसीमा जैसे अन्य हिस्सों में हल्की वर्षा ही देखने को मिलेगी। सप्ताह के आखिर में तमिलनाडु में लगभग शुष्क मौसम की स्थिति की उम्मीद है।
दिल्ली एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर में सप्ताह के दौरान शुष्क मौसम की स्थिति रहेगी। आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। गरज वाले हल्के बादल भी छा सकते हैं। इस सप्ताह के दौरान रात का तापमान कुछ बढ़ेगा और 25 डिग्री के करीब पहुँच सकता है। दिन के तापमान में मामूली गिरावट हो सकती है।
चेन्नई
आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। पूरे सप्ताह में उमस रहेगी। सप्ताह के शुरुआती दिनों में हल्की वर्षा संभव है। राजधानी शहर चेन्नई में इस सप्ताह के अंत में या आगामी सप्ताह के आरंभ में उत्तर-पूर्वी मॉनसून के आगमन की उम्मीद की जा सकती है।