64 वां धम्म चक्र प्रवर्तन दिवस मनाया गया

Scn news india

आशीष उघडे 

सारनी। त्रिरत्न बौद्ध विहार समिति सारनी के तत्वाधान में 64 वां धम्म चक्र प्रवर्तन दिवस मनाया गया। जानकारी देते हुए त्रिरत्न बौद्ध विहार समिति के अध्यक्ष नारायण चौकीकर ने बताया कि कार्यक्रम का आगाज सर्व प्रथम धम्म ध्वजारोहण भंते रत्न बोधी द्वारा किया गया। तत्पश्चात शापिंग सेंटर स्थित डॉ बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। बौद्ध विहार परिसर में बुद्ध वंदना ग्रहण की गई।

स्थानीय वक्ताओं द्वारा धम्म चक्र प्रवर्तन दिवस पर अपने विचार व्यक्त किए गए। 14 अक्टूबर 1956 को डां बाबा साहब अंबेडकर जी द्वारा 5 लाख के अनुयायियों के साथ एतिहासिक धम्म क्रांति नागपुर की दीक्षा भूमि पर बौद्ध धम्म की दीक्षा ग्रहण कर की, यह विश्व की महान धम्म क्रांति में से एक थीं। इस अवसर पर भंते चंद्रमणी द्वारा डॉ बाबा साहब आंबेडकर ने अपने पांच लाख अनुयायियों के साथ त्रिशरण पंचशील ग्रहण किया गया एवं 22 प्रतिज्ञा भी ग्रहण की। विचार व्यक्त करने वालों में नंदा थमके, किरण तायडे, त्रिलोक लोखंडे रहे। इस अवसर पर अर्जुन नागले, बलवंत पाटील, अशोक गजभिये, बीआर मेश्राम, रामचंद्र हुमने, अनिल डोंगरे, निर्माण डोंगरे, ललिता पाटील, सीता नागले, कमला आथनकर, ममता चौकीकर, रेखा मालवीय, सविता सिरसाट, कांता मुझमुले, आदि उपस्थित थे। वही इस दौरान मंच का संचालन समिति के अध्यक्ष नारायण चौकीकर ने किया एवं सभी का आभार व्यक्त किया।