रेलवे सफर के दौरान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. मोदी को हुई थी परेशानी, याचिका पर अब मिलेगा हर्जाना

Scn news india

आशीष उघड़े
सारनी। भारतीय रेलवे के पश्चिम मंडल रेलवे के अंतर्गत स्वतंत्रता संग्राम सेनानी को सफर के दौरान परेशानियों का सामना उठाना पड़ा था, जिसके बाद उन्होंने इस मामले को जिला उपभोक्ता आयोग में 2018 में रेलवे डीआरएम के समक्ष याचिका लगाई थी, इस याचिका की सुनवाई होते हुए जिला उपभोक्ता आयोग ने उन्हें 5 हजार रुपये के हर्जाने का भुगतान करने हेतु पश्चिम मध्य रेलवे को आदेशित किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोयलांचल नगरी पाथाखेडा निवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. कृष्णा मोदी ने 2018 में जिला उपभोक्ता आयोग पश्चिम मध्य रेलवे के डीआरएम के खिलाफ याचिका दायर की थी, जिसमें उन्होंने अपनी शिकायत में कहा था कि वे तेलंगाना एक्सप्रेस से 8 अक्टूबर 2017 को भोपाल से दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। जहां उनके आरक्षित कोच में सीट होने के बावजूद आगरा स्टेशन के बाद लोकल सवारियों को बैठने दिया गया जिससे कि उन्हें शौचालय सहित अपने अन्य कामों में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था और इस दौरान ट्रेन भी समय से दिल्ली स्टेशन पर नहीं पहुंच पाई थी, जिसके कारण उनकी जरूरी बैठक छूट गई और वह वहां नहीं पहुंच पाए थे। इस मामले को लेकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की ओर से जिला उपभोक्ता आयोग में याचिका दायर की गई थी, जिसे आयोग ने सुनते हुए रेलवे की कमी को पाया और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के पक्ष में फैसला सुनाया। हालांकि डॉ. मोदी ने बताया कि वे इस फैसले से संतुष्ट नहीं है वे अब इस मामले में राज्य उपभोक्ता आयोग में याचिका दायर करेंगे।