चौकी प्रभारी के खिलाफ FIR : ASP और SDOP को तत्काल प्रभाव से हटाने के साथ SP से स्पष्टी करण के निर्देश

Scn news india

मनोहर

भोपाल उत्तरप्रदेश की घटना का अंत हुआ नही नया मामला प्रदेश के नरसिंहपुर में दलित महिला के साथ गैंगरेप के बाद आत्महत्या का मामला प्रकाश में आया है। मामले की गम्भीरता को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने संज्ञान लेते हुए चौकी प्रभारी को गिरफ्तार करने और तत्काल प्रभाव से एडिशनल एसपी, एसडीओपी हटाने का निर्देश दिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस अधीक्षक से स्पष्टीकरण मांगा है। फिरहाल एसपी छुट्टी पर हैं। मामले को लेकर सीएम ​शिवराज ने कहा है कि मध्यप्रदेश में माता बहनों के साथ अपराध किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बताया जा रहा है कि मामले में अब तक दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। दो आरोपियों को गिरफ्तार कर 376D और 306 धारा के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बता दे की नरसिंहपुर के चीचली गांव में दलित महिला के साथ गैंगरेप  के बाद रिपोर्ट नहीं लिखे जाने के मामले में सीएम शिवराज  ने सख्त कार्रवाई की है. सीएम के निर्देश के बाद चौकी प्रभारी मिश्रीलाल जिसने एफआईआर नहीं लिखी उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. इस मामले के तीन आरोपियों अरविंद, मोतीलाल और अनिल राय की गिरफ्तारी भी कर ली गयी है. इसके साथ ही तत्काल प्रभाव से एडिशनल एसपी, एसडीओपी को हटा दिया गया है. इसी तरह खरगौन के एसपी से मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया है.हालांकि एसपी फिलहाल छुट्टी पर चल रहे हैं.

नरसिंहपुर के चीचली गांव में गैगरेप पीड़ित एक दलित महिला ने खुदकुशी कर ली थी. पीड़ित के पति का आरोप था कि वो आरोपियों के खिलाफ थाने के चक्कर लगाते रहे लेकिन उनकी FIR नहीं लिखी गयी. मामला उठा तो राजधानी भोपाल तक पहुंचा. इस पर सीएम शिवराज ने खुद ध्यान दिया और जिम्मेदार अफसरों  के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए.सीएम की नाराज़गी और सख़्ती के बाद अब  गैंगरेप के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर 376 D और 306 धारा के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. सीएम ने कहा है कि प्रदेश में रेप के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा.