शहर एवं कस्बे को साफ सुथरा व स्वच्छ रखने के लिये जुनून के साथ कार्य करें – पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल

Scn news india

 

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

शहर एवं कस्बे को साफ सुथरा व स्वच्छ रखने के लिये जुनून के साथ कार्य करें –
पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल
स्वीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना के अंतर्गत कार्यशाला संपन्न

रीवा 02 अक्टूबर 2020. शहर एवं कस्बे को साफ सुथरा व स्वच्छ रखने के लिये अधिकारी पूरे जुनून के साथ कार्य करें। घर-घर कचरे का संग्रहण किया जाय तथा लोगों को भी साफ-सफाई रखने के लिये जागरूक व प्रेरित करें तभी हम स्वच्छ भारत के संकल्प को पूरा कर पाने में सफल हो सकेंगे। उक्त आशय के उद्गार प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल ने एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजनान्तर्गत आयोजित कार्यशाला को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित करते हुए व्यक्त किये।
नगर पालिक निगम रीवा के तत्वाधान में कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में आयोजित कार्यशाला में श्री शुक्ल ने कहा कि यह सुखद संयोग है कि आज महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर यह कार्यशाला आयोजित की जा रही है। बापू स्वयं स्वच्छता के अग्रदूत थे। उन्होंने अहिंसा के साथ स्वच्छता को जीवन का मूलमंत्र बनाने का आह्वान किया था। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर स्वच्छ भारत का संकल्प लिया था। इसलिए सभी का दायित्व है कि अपने घर, शहर, कस्बे, गांव को साफ-सुथरा रखें। श्री शुक्ल ने कहा कि कोई भी शहर आदर्श शहर तभी होगा जब वहाँ घर-घर में मीठा पानी पहुंचे, घर का गंदा पानी अंडर ग्राउण्ड सिस्टम से ट्रीटमेंट प्लांट तक जाय तथा कचरे का सही प्रबंधन किया जाय। रीवा शहर में यह कार्य प्रगति पर है। इन्हें पूरा कर रीवा को प्रदेश व देश का आदर्श शहर बनाना है। रीवा विधायक ने नगरीय निकाय के अधिकारियों से अपेक्षा की कि कचरा संग्रहण करने वाली एजेंसी के साथ समन्वय बनाकर कार्य करें साथ ही एजेंसी अधिक तत्पर होकर कचरा संग्रहण का काम पूरे मनोयोग से करें। कहीं भी कचरा न रहे तथा हर घर से कचरा लिया जाय। उन्होंने कहा कि जिन नगरीय निकायों में कचरा संग्रहण स्थल के लिये भूमि चयनित नहीं हो पायी है वहां शीघ्र भूमि का चयन कर कचरा ट्रांसफर स्थल बनायें। रीवा के पहड़िया में कचरा प्रबंधन यूनिट की स्थापना का कार्य पूर्णता की ओर है जहां इस कचरे का प्रबंधन किया जायेगा।
इस अवसर पर कमिश्नर रीवा संभाग राजेश कुमार जैन ने कहा कि ठोस अपशिष्ट के अधिकतम प्रबंधन के संसाधन निर्मित किया जाना जरूरी है ताकि कचरे का निष्पादन हो सके। संभागान्तर्गत जिन नगरीय निकायों में कचरा संग्रहण स्थल हेतु भूमि चयनित नहीं हुई है वहाँ आगामी तीन दिवस में भूमि का चयन कर एसडीएम के माध्यम से प्रस्ताव संबंधित कलेक्टर को भेजें ताकि इस हेतु भूमि का आवंटन किया जा सके। उन्होंने कचरा संग्रहण के लिये वाहनों की संख्या बढ़ाने व प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को साफ-सफाई के लिये जागरूक किये जाने की बात कही।
कार्यशाला में रीवा कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि यह उच्च प्राथमिकता का कार्यक्रम है। घर-घर से कचरे का समय पर उठाव हो तथा इस कार्य की एसडीएम मॉनीटरिंग करें। जिम्मेदार अधिकारी वार्ड में जायं तथा लोगों को जागरूक भी किया जाय। उन्होंने गांधी जयंती पर साफ-सफाई का संकल्प लेने का आह्वान किया। इस दौरान आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा ने घर से कचरा संग्रहण का काम दोपहर 12 बजे तक अनिवार्यत: पूरा करने व कचरा संग्रहण वाहनों व अन्य प्रचार-प्रसार की गतिविधियों के माध्यम से लोगों को स्वच्छता के लिये जागरूक किये जाने के निर्देश अधिकारियों व कचरा संग्रहण एजेंसी को दिये। कार्यशाला में भोपाल से सलाहकार स्वच्छ भारत मिशन नगरीय प्रशासन श्री कमल किशोर श्रीवास्तव ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़ते हुए परियोजना का प्रस्तुतीकरण दिया। एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना क्लस्टर रीवा की कार्यशाला के अंत में आभार प्रदर्शन अधीक्षण यंत्री नगर पालिक निगम रीवा श्री शैलेन्द्र शुक्ल ने किया। इस दौरान संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एसके सिंह, कार्यपालन यंत्री एसके चतुर्वेदी, जिला गौ संवर्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष राजेश पाण्डेय रीवा जिले के अनुभाग के एसडीएम तथा रीवा, सतना जिलों के नगरीय निकाय के सीएमओ व अधिकारी तथा रेमकी कंपनी के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।