वृद्धजनों के सम्मान से ही आने वाली पीढ़ी का भविष्य उज्जवल होगा – पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ला

Scn news india

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

रीवा 01 अक्टूबर 2020. अन्र्तराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर आज एक अक्टूबर को वृद्धाश्रम रीवा के परिसर में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने वरिष्ठजनों को शाल श्रीफल देकर सम्मानित किया। इस दौरान कलेक्टर इलैयाराजा टी भी उपस्थित रहे।

भारतीय रेडक्रास सोसायटी रीवा इकाई एवं वृद्धाश्रम रीवा के तत्वाधान में स्वागत भवन परिसर में आयोजित वृद्धजन दिवस एवं सम्मान समारोह कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के तौर पर सम्बोधित करते हुए पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि वृद्धजनों के सम्मान से ही आने वाली पीढ़ी का भविष्य उज्जवल होगा। हमारे बुजुर्ग घर की शोभा होते हैं इनके रहने से हमें आश्रय व संबल मिलता है साथ ही यह हमारी हर समस्या का समाधान करने में सक्षम होते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे देश की गौरवशाली परंपरा है कि हम अपने बड़े बुजुर्गों का सम्मान करें और उनकी सुखसुविधा का ख्याल रखें। समाज को इनका पूरा आदर व सम्मान करना चाहिए तथा इनके अनुभवों का लाभ लेना चाहिए क्योंकि उन्होंने अपने जीवन की लम्बी यात्रा तय की है। उन्होंने कहा कि अपने घर में बच्चों को बड़े बुजुर्गों के सम्मान की सीख देनी आवश्यक है। शुक्ल ने वृद्धजनों से खुश रहने व आशिर्वाद बनाये रखने की आकांक्षा की तथा कहा कि इनके खुश रहने से ही रीवा समृद्धशाली होगा। विधायक रीवा ने वृद्धजन दिवस के अच्छे आयोजन के लिये रेडक्रास व वृद्धाश्रम की प्रशंसा की तथा कहा कि वृद्धाश्रम की व्यवस्था के लिये सभी कार्य कराये जायेंगे। उन्होंने कलेक्टर रीवा की रचनात्मकता की भी प्रशंसा की।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कलेक्टर एवं रीवा रेडक्रास के प्रेसीडेंट डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि आज का दिन वृद्धजनों के साथ व्यवहार व आत्मावलोकन का दिवस है। शासन इनके हित में सुरक्षा सहित अन्य वेहतरी के लिए संवेदनशीलता के साथ प्रयत्नशील है। उन्होंने अपेक्षा की कि बच्चों में वृद्धजनों के सम्मान के संस्कार दिये जाय। इनके अनुभवों व मार्गदर्शन का लाभ लिया जाय तो उन्नति के रास्ते खुलेंगे। कलेक्टर ने वृद्धजनों से कोविड-19 में पूरी सतर्कता बरतने की अपेक्षा की।

इस अवसर पर अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में रेडक्रास के चेयरमैन डॉ. सज्जन सिंह ने कहा कि यह दिवस समाज में वृद्धजनों के प्रति उत्तरदायित्व का बोध कराने का दिन है। समाज में जागृति लाकर ही वरिष्ठजनों की पहचान स्थापित रह सकती है। उन्होंने वृद्धजनों से सक्रिय रहने की अपील की। कार्यक्रम के आरंभ में वृद्धाश्रम रीवा के प्रभारी डॉ. प्रभाकर चतुर्वेदी ने अतिथियों का स्वागत करते हुए वृद्धाश्रम की गतिविधियों की जानकारी दी। संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय अनिल दुबे द्वारा वरिष्ठजनों के हित में शासन द्वारा संचालित योजनाओं व कार्यक्रमों के विषय में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम का संचालन सचिव रेडक्रास सोसायटी डॉ. विनोद श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर रेडक्रास के उपाध्यक्ष एके खान, प्रदेश प्रतिनिधि डॉ. डीपी सिंह, विधायक प्रतिनिधि विवेक दुबे, सतीश नामदेव सहित वरिष्ठजन तथा रेडक्रास व वृद्धाश्रम के सदस्य उपस्थित रहे।