लॉकअप में पुलिस की गोली से संदेही की मौत के बाद सिंहपुर थाना में मचा बवाल

Scn news india

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

सतना-जिले के सिंहपुर थाना लॉकअप में चोरी के संदेही की थानेदार की सर्विस रिवॉल्वर से हुई मौत के बाद बवाल मच गया है, मृतक के परिजनो और बड़ी संख्या में ग्रामीण थाना पहुंच गए और सड़क पर धरने पर बैठ गए हैं, परिजनों का सीधा आरोप है कि थानेदार ने शराब के नशे में पूछ-ताछ के दौरान गोली मार कर राजपति कुशवाहा की हत्या कर दी है, उधर थाना में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है, इस मामले पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने आरोपो के घेरे में आऐ सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक और आरक्षक आशीष को निलंबित कर दिया है।

_गौरतलब है कि सिंहपुर थाना इलाके के नारायणपुर गांव में बढ़ईगीरी और राजगीर मिस्त्री का काम करने वाले राजपति कुशवाहा 45 वर्ष की रविवार की रात सिंहपुर थाना के अंदर गोली लगने से मौत हो गई, जिस बंदूक से राजपति को गोली लगी वह सिंहपुर थाना प्रभारी विक्रम पाठक की सर्विस रिवॉल्वर थी, गोली लगने के बाद राजपति को सिंहपुर थाना से बिरला अस्पताल ले जाया गया था जहां उसकी मौत हो गई थी बावजूद इसके उसे रीवा मेडिकल कालेज ले जाया गया, सुबह जब परिजन थाना पहुंचे तो पता चला कि राजपति की मौत हो चुकी है,

मृतक
मृतक

यह सूचना नारायणपुर पहुंची तो मृतक की पत्नी बच्चों समेत सैकड़ा भर ग्रामीण सिंहपुर पहुंच गए, परिजनो और ग्रामीण थाना के सामने सड़क पर बैठ गए और उन्होंने नागौद कालिंजर मार्ग पर आवागमन ठप कर दिया, थानेदार सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक जिन पर परिजन लगा रहे हैं हत्या के आरोप, मृतक की पत्नी और अन्य परिजनो का आरोप है कि पुलिस ने लल्लू गर्ग नाम के व्यक्ति के इशारे पर राजपति को चोरी के संदेह में रविवार की दोपहर लगभग 2 बजे घर से उठाया था, थानेदार विक्रम पाठक, आरक्षक आशीष सिंह और नीरज त्रिपाठी उसे थाना ले आये थे, रात में जब राजपति का भांजा थाना भोजन ले कर आया तो उसे भगा दिया गया कुछ ही देर बाद रात लगभग सवा 9 बजे उसने थाना के अंदर गोली चलने की आवाज सुनी, थोड़ी देर बाद पुलिस कर्मी किसी को गाड़ी में लाद कर ले गए।

सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक
सब इंस्पेक्टर विक्रम पाठक

नारेबाजों ने कहा हमें भी मारो गोली

बेहद आक्रोशित परिजन और ग्रामीण पुलिस को खुली चुनौती पेश करते हुए धरने पर तो बैठे ही थे पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे, पुलिस के वाहनों कें रास्ते पर लेट गए नाराज लोग एसडीओपी, एडिशनल एसपी और आरआई से भी उलझ गए, ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस अब हमें भी गोली मार दे, इस दौरान पुलिस और नाराज लोगो के बीच कई बार झड़प भी हुई, परिजन शव सामने लाने की मांग कर रहे हैं, पुलिस माहौल को ठंडा करने की कोशिश कर रही है, सिंहपुर थाना में एडिशनल एसपी हितिका वासल , गौतम सोलंकी , आरआई सत्यप्रकाश मिश्रा, एसडीओपी और टीआई नागौद ,सिविल लाइन टीआई समेत एसएएफ और जिला पुलिस बल के जवान भारी संख्या में तैनात किए गए हैं, उधर रैगांव और नारायणपुर में भी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।