मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से किसानों को दी किसान कल्याण योजना की राशि

Scn news india

किसान कल्याण की ऐसी लकीर खींचूगा जिसे कोई मिटा नहीं पायेगा – मुख्यमंत्री

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

रीवा- मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना से प्रदेश के लाखों किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। रीवा जिले के भी 20 हजार से अधिक किसानों के खाते में किसान कल्याण योजना की राशि जारी की गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में सिंगल क्लिक के माध्यम से प्रदेश के किसानों के बैंक खाते में राशि अंतरित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों के किसानों से सीधा संवाद भी किया। कलेक्ट्रेट रीवा के एनआईसी केन्द्र में इस कार्यक्रम में रीवा जिले के पांच किसानों को प्रतीक स्वरूप किसान सम्मान निधि का वितरण किया गया। किसानों को विधायक त्योंथर श्री श्यामलाल द्विवेदी, विधायक सेमरिया श्री केपी त्रिपाठी, विधायक मनगवां श्री पंचूलाल प्रजापति तथा विधायक मऊगंज श्री प्रदीप पटेल ने किसान कल्याण निधि का वितरण किया। कार्यक्रम में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन, कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, एडीएम श्रीमती इला तिवारी, संयुक्त कलेक्टर एके झा, उप संचालक कृषि यूपी बागरी, विधायक रीवा प्रतिनिधि तथा उपाध्यक्ष जिला गौ संवद्र्धन बोर्ड राजेश पाण्डेय एवं किसान उपस्थित रहे।
समारोह में वीडियो कान्फ्रेंसिंग से प्रदेश भर के किसानों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में राशि की कमी होने के बावजूद खेती के विकास और किसान कल्याण के लिये हर संभव सहायता दी जायेगी। प्रदेश में किसानों के कल्याण की ऐसी लकीर खींची जायेगी जिसे कोई मिटा नहीं पायेगा। किसानों तथा मजदूरों के कल्याण की सदैव चिंता करने वाले देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने किसानों के लिये तीन नये विधेयकों के माध्यम से किसानों के कल्याण का क्रांतिकारी कदम उठाया है। अब किसान मण्डी के साथ-साथ खुले बाजार में भी अपनी उपज अच्छे दामों में बेचने के लिये स्वतंत्र होगा। मण्डी किसी भी स्थिति में बंद नहीं होगी। न्यूनतम समर्थन मूल्य की सुविधा हमेशा रहेगी। सभी किसान नये कानूनों की पूरी जानकारी जरूर लें। इनके संबंध में किये जा रहे भ्रामक प्रचार में न फंसे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी किसानों को हर साल 6 हजार रूपये किसान सम्मान निधि दे रहे हैं। मध्यप्रदेश में अब किसानों को इस निधि के साथ मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना से 4 हजार रूपये की सहायता दो किश्तों में दी जा रही है। हर किसान को हर साल 10 हजार रूपये की सम्मान निधि मिलेगी जो उसके खाद-बीज के प्रबंध तथा खेती के अन्य कार्यों में काम आयेगी। साथ ही सहकारी बैंकों से जीरो प्रतिशत ब्याज पर किसानों को ऋण दिया जा रहा है। किसानों के कल्याण के लिये दीर्घकालीन नीति बनायी गई है जिसके कारण मध्यप्रदेश खेती में तेजी से विकास कर रहा है।