टेन्ट संचालकों का सब्र टूटा, ज्ञापन सौंपकर प्रशासन से की गाइड लाइन में संशोधन की मांग

Scn news india

आशीष उघड़े 

सारनी। विगत 6 माह से कोरोना की वजह से खाली एवं बेरोजगार बैठे टेंट संचालको का सब्र का बांध आखिर टूट गया। नगर के सभी टेंट संचालको ने शनिवार को एकजुट होकर मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सारनी थाना प्रभारी को सौंपा। सारनी टेंट एसोसिएशन के बैनर तले सौपे गये ज्ञापन में दुर्गा उत्सव में पण्डाल का आकार बढ़ाने एवं धार्मिक और सामाजिक आयोजनों के लिए जारी गाईड लाइन में छूट प्रदान करने की मांग की गई है। एसोसिएशन के संरक्षक भाजपा नेता कमलेश सिंह ने कहा कि टेंट व्यवसायियों की मांग जायज है। उन्हें अपनी आजीविका चलाने का अवसर मिलना चाहिए। टेंट एसोसिएशन के जिला उपाध्यक्ष सुनील मोखडे, कोषाध्यक्ष हेमराज नागले एवं मिडिया प्रभारी नईम खान, वरिष्ठ टेंट संचालक नरेंद्र विश्वकर्मा ने बताया कि प्रशासन द्वारा अधिकतम 100 व्यक्तियों की उपस्थित में दुर्गा उत्सव मनाने की गाइड लाइन जारी की गई है।

10 बाई 10 साइज के टेंट में यह संम्भव नहीं है। प्रशासन को फिर से विचार करना चाहिए और गाईड लाइन में बदलाव करना चाहिए। टेंट संचालक हेमराज नागले ने कहा कि 7 माह से काम धंधा ठप्प है। प्रशासन यदि गाईड लाइन में ढील दे तो हमे भी आंशिक रूप से रोजगार मिल सकेगा। टेंट एसोसिएशन ने अपने ज्ञापन में उल्लेख किया है कि सभी प्रकार के व्यापार चालू हो गए लेकिन टेंट का व्यवसाय पूरी तरह ठप्प है। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने शासन प्रशासन से दुर्गा पण्डाल का आकार बढ़ाने, दुर्गा उत्सव एवं अन्य आयोजनों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शामिल व्यक्तियों की संख्या में छूट प्रदान करने सहित टेंट, लाइट, साउंड, बैंड, केटरिंग के धंधे से जुड़े कारोबारियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की है। इस अवसर पर वरिष्ठ टेंट संचालक एच शर्मा, संगठन मंत्री सुखदेव नागले, सह सचिव संन्तोष साहू, दिनेश मालवीय, रवि डेहरिया, अशोक कहार, सुनील मण्डल, संजय पवार, होरीलाल साहू सहित टेंट व्यापारी, डीजे साउंड एवं डेकोरेशन संचालक मौजूद थे।