गोंडवाना पार्टी ने भाजपा सरकार की नीति के विरोध में सौपा ज्ञापन

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला. गोंडवाना पार्टी ने किसान विरोधी,युवा विरोधी,दमनकारी निति के खिलाफ जिला अध्यक्ष बिसराम उइके के नेतृत्व में तहसीलदार नीरज कालमेघ को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपा है इस मौके पर गोंडवाना पार्टी के जिला अध्यक्ष बिसराम उइके ने बताया कि आज शुक्रवार को ज्ञापन सौपकर भाजपा सरकार की विरोधी नीतियों के खिलाफ ज्ञापन सौपकर मांग की है कि कृषि उत्पादन और वाणिज्य संवर्धन सुविधा कानून 2020 किसानों के विरोध में पारित अध्यादेश को वापस लिया जाए फसल बीमा राशि के नाम पर किसानों से की जा रही धोखाधड़ी बंद की जाए जैसे वर्तमान में भाजपा सरकार द्वारा जारी फसल बीमा राशि के नाम पर देखने में आया कि ₹2 ₹4 और ₹10 की राशि किसानों के खातों में डालकर किसानों के साथ धोखा किया जा रहा है वहीं बिजली बिल के दाम काम किया जाए और निजी करण को समाप्त किया जाए पेट्रोलियम पदार्थों का निजी करण का सरकार अपने अधीनस्थ निर्धारित कर देश को सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर सरकारी संस्थाओं को निजी हाथों में सौंपा जा रहा है उसको तत्काल रोक कर सरकार संचालित करें भारतीय रेलवे स्टेशन लाल किला ताजमहल कोल ब्लॉक को निजी हाथों में दी जा रही है हीरा खदान इत्यादि इन्हें सरकार अपने अधीन रखे और निजी करण को पूरी तरह से समाप्त करें देश में विकास के नाम पर कहीं भी कला कारखाने लगाने कहीं जंगली जानवर पालने के नाम पर बड़े-बड़े अभ्यारण बनाकर तालाब तथा बिजली परियोजना के नाम पर हमेशा एसीएसटी को ही उजड़ा जाता है जिसे तत्काल प्रभाव से स्थाई रोक लगाई जाए इस मौके पर गोंडवाना पार्टी के जिला अध्यक्ष बिसराम उइके अनिल उइके गुड्डू भलावी संतलाल संतोष भलावी धुर्वे मनिता मनोज रंजीता इमरत हुई के आदि लोग उपस्थित थे।