प्रधान मंत्री योजना के नाम पर लोन देने वाले गिरोह का हुआ पर्दाफाश,स्वयं को बताते थे माईक्रो फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी

Scn news india

मनोहर
लोन दिलाने वाले फर्जी विज्ञापन देने वाला गिरोह सायबर पुलिस भोपाल की गिरफ्त में
गिरोह विगत कई सालों से कर रहे थे ठगी।
गिरोह का कोई भी सदस्य 10 वी पास भी नहीं।
समाचार पत्रों में लोन दिलाने के नाम पर दे रहे थे फर्जी विज्ञापन।
पिछले दो सालों में की गई लाखों की काली कमाई।
गिरोह म0प्र0 के श्योपुर जिले के हैं निवासी ।
गिरोह के सदस्य एक ही परिवार के ।
देश के कई प्रांतों से करते थे गिरोह का संचालन।
आरोपी – सुरेश राजपूत , संजू राजपूत , ब्रजपाल राजपूत

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (राज्य सायबर) श्री मिलिंद कानस्कर द्वारा सायबर अपराधों से जुड़े प्रकरणों में जीरो टॉलरेंस अपनाने एवं त्वरित कार्यवाही करने के दिशा निर्देशों के पालन में राज्य साइबर पुलिस भोपाल पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए एक विशेष अभियान के तहत की गई कार्यवाही के फलस्वरूप प्रधान मंत्री योजना के नाम पर लोन दिलाने के नाम पर समाचार पत्रों एवं बल्क एस.एम.एस सर्विस का उपयोग कर फर्जी विज्ञापन प्रकाशित करने वाले ठग गिरोह की गिरफ्तारी सुनिश्चित की ।
गिरोह का मास्टर माईण्ड सुरेश राजपूत पिता ओमप्रकाश राजपूत नि0 बजाज नगर वार्ड 9 जिला श्योपुर म0प्र0 पिछले कई वर्षों से प्रधान मंत्री योजना के नाम पर लोन दिलाने का विज्ञापन समाचार पत्रों में प्रकाशित करता था जिससे वास्तिवक समझकर लोग इनके चंगुल में फसकर संपर्क करते थे तथा लोन मिलने की आस में ठगी का शिकार होते थे। गिरोह का मास्टर माईण्ड सुरेश राजपूत अपने परिवार के अन्य सदस्यों संजू राजपूत पिता बंशीलाल राजपूत नि0 ग्राम मितावली जिला श्योपुर तथा ब्रजपाल राजपूत पिता ज्ञानचंद राजपूत नि0 ग्राम माकड़ौद जिला श्योपुर के साथ मिलकर उक्त घटना को अंजाम दिया करता था।
उक्त गिरोह दैनिक समाचार पत्रों में फर्जी विज्ञापन प्रधानमंत्री योजना के नाम पर दिया करते थे तथा बल्क एसएमएस की सर्विस का उपयोग कर लोगों को लोन दिलाने का मैसेज किया करते थे। गिरोह स्वयं को माईक्रो फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी बताते हुए मैसेज में अपना संपर्क नंबर भेजा करते थे जिसपर लोन लेने वाले इच्छुक लोग संपर्क किया करते थे। उक्त गिरोह देश के कई प्रदेशों में एक ऑफिस किराये से लेकर लोन लेने वाले इच्छुक व्यक्तियों से खाता खुलवाकर तथा फर्जी सिमों का उपयोग कर उन खातों में ठगी हुई राशि प्रोसेसिंग फीस आदि जैसे विभिन्न बहानों से जमा करवा लेते थे।
उक्त गिरोह ने प्रधान मंत्री योजना के नाम पर पिछले दो वर्षों में लाखों की अवैध कमाई की तथा लोगों की ठगने का काम किया। उक्त गिरोह ने देश के लगभग 10 से अधिक प्रदेशों के लोगों को लोन दिलाने के नाम पर ठगना सायबर पुलिस के सामने कबूल किया है। गिरोह का कोई भी सदस्य 10वी पास नहीं है । उक्त गिरोह को सायबर पुलिस भोपाल द्वारा विधिवत गिरफ्तार किया गया तथा माननीय न्यायालय समक्ष प्रस्तुत किया गया तथा न्यायालय के आदेशानुसार आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में केंद्रीय जेल भोपाल निरूद्ध किया गया।
सायबर पुलिस भोपाल की ओर से उक्त कार्यवाही में निरीक्षक चंद्रकांत पाटीदर ,उनि दिलिप मौर्य, ऊनि नीलम दिवेदी, आरक्षक मंजीत ठाकुर, आर. अखिलेश नरवरे आर. महाराम दांगी का सराहनीय योगदान रहा।