दो- दो ब्रह्म कमल के चार फूल खिले, दर्शन करने लगा नगरवासियों का तांता

Scn news india

नवील वर्मा 

शाहपुर स्टेशन रोड गौरव फोटोकॉपी राठौर निवास पर दो गमलों में दो- दो ब्रह्म कमल के चार फूल खिले। ब्रह्म कमल खिलने की खबर मिलते ही नगरवासी ब्रह्म कमलों के दर्शन के लिए राठौर निवास पर पहुंच रहे हैं। और पूजा अर्चना कर रहे हैं। ब्रह्म कमल का फूल खिलने से राठौर परिवार के हर सदस्य कि चेहरे पर उत्साह और प्रसन्नता नजर आ रही है।

ब्रह्म कमल के फूल को फूलों का सम्राट भी कहा जाता है। ब्रह्म कमल को उत्तराखंड का राज्य पुष्प भी कहा जाता है,यह हिमालय की ऊंची चोटियों पर पाया जाता है। इस ब्रह्म कमल फूल का हिंदू धर्म में बड़ा महत्व बताया गया है। इसके विषय में मानता है कि जो भी व्यक्ति इस फूल को खिलते हुए देख,जो भी मनोकामना करता है, वह पूर्ण होती है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि इस ब्रह्म कमल के पौधे में एक साल में एक बार फूल खिलते हैं, तो कुछ लोगों का मानना है की इस पौधे में 14 साल में फूल खिलते हैं लेकिन यह बात सत्य है यह पुष्प देर रात ही खिलता है, और सूर्य उदय से पहले मुरझा जाता है। यह फूल सितंबर और अक्टूबर के माह में ही खिलते हैं, ब्रह्म कमल को ब्रह्मा जी का पुष्प माना जाता है। ब्रह्म कमल का खिलना भाग्य उदय का प्रतीक भी माना गया है।