मध्य प्रदेश विद्युत मंडल अभियंता संघ की प्रथम केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इंक्रीमेंट, डीए एवं अन्य मुद्दों हेतु आंदोलन की रणनीति तय

Scn news india

आशीष उघड़े
सारनी। मध्य प्रदेश विद्युत मंडल अभियंता संघ की प्रथम केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक 15 सितंबर को वर्ष 2020-21 के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों, केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्यों व विशेष आमंत्रित प्रतिनिधियों द्वारा वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन संपन्न हुई। इस बैठक लगन 40 सदस्यों ने संपूर्ण म.प्र. से ऑनलाइन उपस्थिति के द्वारा अपनी सहभागिता प्रदर्शित की। कार्यक्रम का शुभारंभ अभियंता संघ के संविधान वाचन एवं
अभियंता संघ महासचिव व्हीके एस परिहार के उद्बोधन साथ हुआ। अधिवेशन में संघ के द्वारा विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान क्षेत्रीय साथियों एवं केंद्रीय संयुक्त सचिवों द्वारा अपनी स्तर पर अधिकारियों एवं अधिकारियों की वेतन विसंगतियों एवं अन्य मुद्दों पर अपनी राय एवं सुझाव प्रदान किए गए। इस अवसर पर कंपनियों द्वारा डी ए और इक्रीमेंट रोके जाने को पुनः प्रदान करने, वरीयता के आधार पर चालू प्रभार, कंपनियों में पदस्थ कम्पनी कैडर के अधिकारियों को 03 को विलोपित कर पी-4 बैंड प्रदान किए जाने, एपीएस में केंद्र के समान 10% में बढ़ाकर 14% का समायोजन, पेंशन फन्ड का निर्धारण, कंपनियों में अधिकारी एवं कर्मचारियों में स्टाफ की कमी एवं अधिकारियों के विरुद्ध हो रही कार्यवाहियों, फंड की समुचित व्यवस्था से संबंधित आ रही परेशानियों, टीबीसीबी,
50%, इलेक्ट्रिकईटी स्विट, मेडिक्लेम पालिसी को लेकर बिन्दुमार विस्तार से चर्चा की गई। उक्त चर्चा में यह भी निर्णय लिया गया कि उपयुक्त मांगों के समाधान हेतु कंपनी स्तर एवं राज्य स्तर पर शीघ्र अति
शीघ्र पत्राचार कर इस तरह हो रही अनियमिताओ को उचित माध्यम द्वारा अवगत कराना जाना सुनिश्चित किया जायेगा
एवं की समय सीमा में निराकरण नहीं किया जाता है तो आंदोलनात्मक गतिविधियां शुरू की जायेगी। कार्यक्रम के अंत में महासचिव ने सभी अभियंता बंधुओं से आगे आकर अपने अधिकारों, सम्मान एवं
हक के लिए अभियंता संघ के तत्वाधान में एकजुट होकर संघर्ष की लड़ाई में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की बात कही। उन्होंने सभी सदस्यों को मुद्दों के निराकरण हेतु चरणबद्ध रणनीति की जानकारी प्रदान की एवं अभियंताओं से आह्वान
किया कि वे विभिन्न मुद्दों के निराकरण में अपनी शत प्रतिशत एकजुटता सुनिश्चित करें।
ऑनलाइन वर्च्युअल सभा का आयोजन एवं संचालन केंद्रीय कार्यकारिणी के संगठन सचिव मनोज तिवारी द्वारा किया गया।