कांग्रेस प्रत्याशी के पुनर्विचार के मध्य राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रमेश कुमार सिंह का इस्तीफा से आया नया भूचाल

Scn news india

विधानसभा उपचुनाव की घोषणा अब किसी भी क्षण कभी भी हो सकती है।राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश के बाद जिला स्तर पर निर्वाचन प्रक्रिया का कार्य तीव्र गति से प्रारंभ है।वही

चंद्रमणि विश्वकर्मा/जिला ब्यूरो/9340132425

अनूपपुर विधानसभा उपचुनाव को लेकर तमाम कयासों पर एक बार कांग्रेस प्रत्याशी के घोषित होने के बाद विराम सा लग गया था और यह फाइनल हो गया था कि प्रदेश के मंत्री बिसाहूलाल सिंह के इशारे पर जिला कांग्रेस कमेटी ने डमी कैंडिडेट के रूप में विश्वनाथ सिंह को मैदान में उतार दिया था। जिसका परिणाम यह हुआ कि कांग्रेस से टिकट के तमाम दावेदार एक छत के नीचे आ गए और उनका एक साथ आना कांग्रेस की राजनीति में उथल-पुथल मच गया। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के बुलावे पर कांग्रेश के तमाम दावेदार प्रत्याशी उनसे भोपाल पहुंचकर मुलाकात की जिसका परिणाम हुआ कि उन्होंने पुनर्विचार किए जाने की बात कही।उसके बाद राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रमेश कुमार सिंह का प्रशासनिक पद से इस्तीफा दे देना कांग्रेस की राजनीति में नया भूचाल पैदा कर दी है।

अब कार्यकर्ता असमंजस की स्थिति में आ गए हैं क्योंकि एक बार कांग्रेस ने डमी कैंडिडेट के रूप में प्रत्याशी की घोषणा करा ली जो कि सर्वे रिपोर्ट में बिल्कुल नहीं आ रहे थे उसका परिणाम हुआ की तमाम दावेदारों ने एक बैठक कर 2 दिन काफी विचार विमर्श किया और अंततः राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रमेश कुमार सिंह के नाम पर अपनी अपनी सहमति जताई।उसके बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमल नाथ से बात कर मिलने का समय मांगा गया जिस पर कमलनाथ ने समय दिया और सभी दावेदार एकजुटता का परिचय देते हुए अपनी बातों को पूरी दमखम के साथ कमलनाथ के समक्ष रखें। परिणामत: उन्होंने पुनर्विचार का आश्वासन दिया और राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ने अनूपपुर से भोपाल जाने के पूर्व ही अपना मन बना लिया था कि मुझको अब सरकारी नौकरी नहीं करना है मुझे जनसेवा के लिए जनता का रक्षक बनकर काम करना है।उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश कांग्रेस से टिकट के लिए काफी पहले से हो रही थी तमाम आश्वासनों के मध्य वह टिकट का इंतजार कर रहे थे लेकिन तमाम सर्वे रिपोर्ट के बाद उन्हें टिकट नहीं मिली जिससे उन्हें अपने इरादे में परिवर्तन लाने का मन बनाते हुए शासकीय पद से त्यागपत्र देने का निर्णय लिया।और अंततः वे उस मुकाम पर पहुंच भी गए और इस्तीफा देने के बाद उनका निर्णय है कि कांग्रेस उन्हें तमाम सर्वे के आधार पर टिकट दे वे कांग्रेस पार्टी से दमदार प्रत्याशी के रूप में एक मंत्री से चुनावी लड़ाई में शामिल होना चाहते हैं और उनको चुनौती देने की उनकी मंशा है।उनके साथ उनके चाहने वालों की कोई कमी नहीं है।प्रदेश में एक नया परिणाम उपचुनाव में अनूपपुर विधानसभा में उनका लाने का इरादा है निश्चित ही कार्यकर्ताओं की बदौलत वे उस मुकाम पर पहुंचेंगे इसके लिए कांग्रेस पार्टी का समर्थन वे चाहते हैं।राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रमेश कुमार सिंह के इस्तीफा की खबर के बाद उनके समर्थकों ने अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र में जमकर आतिशबाजी की एवं मिठाइयां बांटकर खुशी मनाई।अब देखना है कि कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष क्या निर्णय लेते हैं उनके निर्णय के बाद अनूपपुर की राजनीति में निश्चित ही नया भूचाल आएगा और नया भूचाल कुछ नया परिणाम लेकर भी सन 2023 का बिगुल फूंक देगा। रमेश कुमार सिंह अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र से हैं और इनके ससुराल भी अनूपपुर शहर में है निश्चित ही इनके समर्थकों की कमी कहीं नजर नहीं आ रही।इनके राज्य प्रशासनिक सेवा में रहते हुए इनके समर्थक सदा इनके पक्ष में काम करते रहे गांव गांव शहर शहर रमेश कुमार सिंह का डंका बजता रहा लोगों को इंतजार था वह रमेश कुमार सिंह की एक झलक पाना चाहते थे। अब इस्तीफे के बाद वे अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव गांव में जाएंगे लोगों से मिलेंगे उनके सुख-दुख दर्द में सहभागी बनेंगे। क्योंकि वह एक प्रशासनिक अनुभव वाले अधिकारी रह चुके हैं अब उनका मकसद जनता की सेवा जन सेवा ही है।