शिक्षक दिवस को काला दिवस मनाएंगे अधिक शिक्षक सौंपेगे ज्ञापन सरकार हमें स्थाई नौकरी दे या इच्छा मृत्यु दे

Scn news india

आशीष वर्मा 

अनूपपुर जिले के अतिथि शिक्षक आने वाले शिक्षक दिवस यानी 5 सितंबर को जेल भरो आंदोलन कर इच्छा मृत्यु की मांग करेंगे । अतिथि शिक्षक लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं लेकिन कोई भी सरकार अतिथि शिक्षकों के हित में अभी तक फैसला नहीं ले पाई है। जिला अध्यक्ष मनलाल साहू व उपधायक्ष विपिन तिवारी से बात करने पर उन्होंने बताया कि अतिथि शिक्षक हमेशा की तरह फिर से चले गए हैं अतिथि शिक्षक इस वक्त दोहरी मार झेल रहे हैं उन्होंने महाराज पर आरोप लगाते हुए कहा कि महाराज जब तक कांग्रेस में थे अधिक शिक्षकों के साथ सड़क पर उतरने की बात कर रहे थे लेकिन जैसे ही उन्हें कुर्सी मिल गई वह अथिति शिक्षकों को सड़क पर छोड़कर राज्यसभा चले गए अतिथि शिक्षकों ने कई बार उनसे गुहार लगाई लेकिन महाराज ने उनकी बात को अनसुना कर दिया।
प्रदीप सोनी जी और प्रभात नामदेव रामनरेश राठौर लोकनाथ कोल राहुल मिश्रा शुभेंद्र तिवारी निर्मला प्रजापति नेहा दुबे कविता प्रजापति ने जिले के अतिथि शिक्षकों से अपील की है कि अपना भविष्य सुरक्षित करने के लिए सभी परिवार सहित जिला मुख्यालयों पर पहुंच कर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए शिक्षक दिवस यानी 5 सितंबर को दोपहर 10:00 बजे इंदिरा चौक से कलेक्ट्रेट में उपस्थित होगे और सभी अतिथि शिक्षक मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए विरोध प्रदर्शन करें। वहीं जिले के अन्य अतिथि शिक्षकों का कहना है कि यदि सरकार हमारा भविष्य सुरक्षित नहीं कर सकती तो हमें जेल भेज दे । या हमारे परिवार को जहर दे दे । गौरतलब है कि अतिथि शिक्षक तेरह वर्षों से अपने नियमितीकरण की लड़ाई लड़ रहे हैं। दिल्ली ,हरियाणा सहित कई राज्यों ने अतिथि शिक्षकों के हित में नीति बनाकर उनका भविष्य सुरक्षित किया है। उसी तरह मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षकों के हित में नीति बनाकर भविष्य सुरक्षित किया जा सकता है। लेकिन सरकार प्रतिवर्ष अतिथि शिक्षकों को बेरोजगार करती जा रही है। जिला सचिव रावेन्द्र उपाध्याय ने ने बताया है कि कई बार माननीय मुख्यमंत्री जी और सिंधिया जी से निवेदन कर चुके हैं। लेकिन अतिथि शिक्षकों को आश्वाशन के अलावा आज तक कुछ नहीं मिला।