बेल नदी के पुल पर रेलिंग नही होने से हो सकती है दुर्घटना

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला. खेड़ली बाजार से बोरदेही मुख्य मार्ग में कुछ ही दूरी पर बेल नदी पर निर्मित पुल की रेलिंग नहीं होने से हमेशा दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। विगत कई वर्षों से पुल पर बनी लोहे की रेलिंग को अज्ञात चोरों द्वारा चोरी करके ले गये थे, लेकिन अब तक उस पर दोबारा रेलिंग नहीं लगाई गई।इस पुल से होकर आसपास के ग्रामों के बहुत से बच्चे भी पढ़ने हेतु या कोचिंग हेतु खेड़ली बाजार आते हैं,सुरक्षा रेलिंग नहीं होने से उनके पालक असुरक्षा महसूस करने के साथ चिंतित रहते हैं। क्षेत्रवासियों ने पुलिया पर दोनों साइड सुरक्षा रेलिंग लगाने की मांग भी की है रेलिंग नहीं लगाई जाने पर धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी है।
कुजबा के सक्रिय समाजसेवी चंद्रभान वागद्रे, बम्हनी के देव कवड़कर, कोहपानी के अंजय रघुवंशी का कहना है कि खेड़ली बाजार से बोरदेही मार्ग पर बेल नदी पर निर्मित पूल लगभग 40 वर्षों से अधिक पुराना हो गया है। पुल निर्माण के समय जो रेलिंग लगाई गई थी वह धीरे-धीरे अज्ञात चोरों द्वारा चोरी करके रेलिंग में लगे पाइप निकाल कर ले गए बीते आठ से दस वर्षों से बिना रेलिंग के इतना बड़ा पुल है जिस पर काफी मात्रा में वाहनों की आवाजाही रहती है।
खेड़ली बाजार से सुनील साहू,राहुल साहू,महेश डांगे का कहना है कि पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है क्षेत्र के लोगों द्वारा कई बार इस मामले में सूचना एवं आवेदन दिए लेकिन विभाग मौन साधे हुए है।जिम्मेदार विभाग कोई बड़ी दुर्घटना होने की रास्ता देख रहा है इसलिए अभी तक इस और कोई ध्यान नहीं दिया। कुछ वर्ष पहले इस पुल पर रैलिंग नहीं होने के कारण एक नाबालिक लड़के की पुल से नीचे गिरने के कारण मृत्यु भी हो चुकी है।उक्त मृतक बालक साइकिल से अपने घर जा रहा था अचानक साइकिल का बैलेंस बिगड़ा और वह नीचे गिर गया यदि रैलिंग होती तो वह नीचे नहीं गिरता।
पूर्व जनपद सदस्य अधिवक्ता रमेश चिल्हाटे,स्टोन क्रेशर के संचालक बलवंतसिंह रघुवंशी, कोचिंग संचालक प्रकाश भोजेकर आदि का कहना है कि इस मार्ग से होकर बोरदेही वासी सीधे मुख्य मुलताई मार्ग से जुड़ते हैं। मुलताई जुड़े होने के कारण इस मार्ग पर भारी मात्रा में आवागमन होता है। जिससे होकर छोटे बड़े सभी वाहन आते जाते हैं। आसपास के बहुत से ग्रामों के विद्यार्थी भी इस असुरक्षित पुल से होकर ही खेड़ली बाजार पढ़ने एवं कोचिंग हेतु आते हैं। रेलिंग नहीं होने के कारण उनके माता-पिता में काफी भय रहता है ।
बांगा के जनपद सदस्य ओमप्रकाश यदुवंशी,खेड़ली बाजार के आनंद पंडोले,प्रेमचंद साहू, अतुल पारखे,उदयभान पारखे आदि का कहना है कि मुलताई से बोरदेही तक सड़क के दोनों और दिशा सूचक बोर्ड भी चोरों द्वारा चोरी कर लिए गए हैं ।विभाग द्वारा दोबारा इन्हें लगाने का कोई प्रयास नहीं किया गया। बेल नदी के दोनों ओर कोई भी दिशा सूचक बोर्ड या सूचना पट नहीं है और ना ही पूल पर किसी प्रकार की कोई सुरक्षा है जिससे आवागमन करने वाले लोगों को काफी असुविधा ओं का सामना करना पड़ता है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि जब सरकार हमसे रोड टैक्स लेती है इसके साथ ही अन्य बहुत से टैक्स लगाती है तो फिर आवागमन करने वाले राहगीरों के लिए पुल पर रेलिंग,और पुलिया के दोनों और सूचना हेतु सूचनापटल जैसी मूलभूत सुविधाएं अब तक क्यों नहीं लगाई गई। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा सड़क मेंटेनेंस एवं मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति करने हेतु जो पैसा आता है उसका सही उपयोग नहीं किया जा रहा तथा थोड़ी बहुत लीपापोती कर के शासन को गुमराह किया जाता है। जल्द ही इस पुलिया के दोनों और सूचना पटल तथा बेल नदी के पुल पर दोनों साइड रेलिंग नहीं लगाई जाती है तो क्षेत्रवासी इसके लिए बड़ा आंदोलन करेंगे तथा इसके साथ उन्होंने आवागमन रोककर चक्का जाम करने की चेतावनी भी दी है।

इनका कहना है….

बेल नदी पुल पर दोनों ओर सुरक्षा रेलिंग नहीं है जिसके लिए ग्रामवासी तथा क्षेत्रवासी लगातार मांग कर रहे हैं।ग्राम पंचायत द्वारा पत्र लिखकर उच्च अधिकारियों को अवगत कराया जाएगा।

रानी योगेश रघुवंशी
सरपंच ग्राम पंचायत खेड़लीबाजार