अजयगढ़ में दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सादगी के साथ हुआ गणपति विसर्जन

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद 

अजयगढ -कोरोना संकट काल में भी गणपति के भक्तों की आस्था में कोई कमी नहीं देखी गई, सर्वजनिक पंडालों पर स्थापना में प्रतिबंध होने के चलते जिला मुख्यालय सहित संपूर्ण जिले के गणपति के भक्तों ने बुद्धी, रिद्धी-सिद्धि के दाता भगवान श्री गणेश का गणेश चतुर्थी के दिन अपने घरों में स्थापना कर 10 दिनों तक उनके पसंदीदी वस्तुओं चीजों का भोग लगाकर विधिविधान से पूजा अर्चना करेते हुए 11वें दिन धूमधाम और श्रद्धा पूर्वक प्रथम पूज्य भगवान श्री गणेश का अनंत चतुर्दशी के दिन नजदीकी जलाशयों में विर्सजन किया गया, अनंत चतुर्दशी के दिन सुबह से ही भक्तो के द्वारा हवन पूजन कर गणपति विसर्जन की तैयारी सुरू कर दी गई थी, हलाकि कुछ लोगों द्वारा एक दिन पूर्व ही रात में गणवति विसर्जन किया गया, इस दौरान संपूर्ण जिले सहित गणपति विसर्जन हेतु निर्धारित जलाशयों में राजस्व विभाग व पुलिस फोर्स तैनात रही।
गणेश जी का अजयगढ़ के खोए तालाब में विसर्जन किया गया। इसी प्रकार धरमपुर के भक्तों ने रामनगर की नदी में विसर्जन किया और खोरा के भक्तों द्वारा बाघिन नदी में भगवान गणपति का विसर्जन किया गया, इस दौरन पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के निर्देश में चप्पे-चप्पे में पुलिस बल तैनात रहा जिससे जिले में किसी विवाद और अनहोनी की जानकारी सामने नहीं आई । विषर्जन स्थल पर पुलिस टीमें तैनात रहीं अजयगढ़ में थाना प्रभारी निरीक्षक अरविन्द कुजूर के नेतृृत्व में पीएसआई अनिल सिंह राजपूत, आरक्षक मनीष कुमार, शिव नारायण पटेल, राजस्व विभाग से सदर पटवारी निखिल गौतम, पटवारी धीरज पटेल, एवं नगर परिषद के कर्मचारी मौजूद रहे, धरमपुर व खोरा क्षेत्र में थाना पुभारी सुधीर बेगी द्वारा व्यवस्था संभाली गई । प्रशासन द्वारा कोरोना से बचाव के लिए पूर्व में ही हिदायत दी गई थी।