राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर चयनित संविदा शिक्षा कर्मियों ने मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद 

अजयगढ़। जिले में चयनित संविदा शिक्षा कर्मियों द्वारा महामहिम राष्ट्रपति एवं राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी जा रही है 31 अगस्त 2020 को जिला मुख्यालय में राष्ट्रपति एवं राजपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर इच्छा मृत्यु की मांग करने के बाद 1 सितंबर 2020 को अजयगढ़ क्षेत्र के चयनित संविदा शिक्षकों में तहसील मुख्यालय में पहुंचकर ज्ञापन सौंपकर इच्छा मृत्यु की मांग की है तहसील में ज्ञापन देते हुए चयनित शिक्षा कर्मियों द्वारा इच्छा मृत्यु की मांग की गई है।

महामहिम राष्ट्रपति एवं राज्यपाल के नाम एसडीएम के द्वारा प्रभारी तहसीलदार को ज्ञापन सोपते हुए चयनित संविदा शिक्षा कर्मचारियों द्वारा लेख किया गया है कि वर्ष 2018- 19 में उच्च माध्यमिक शिक्षा तथा 11374 माध्यमिक शिक्षक चयनित किये गए थे मध्यप्रदेश शासन द्वारा 2011 के पश्चात 2018 में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू की थी सितंबर 2018 से आज तक भर्ती प्रक्रिया पूर्ण नही की गई।


1 जुलाई 2020 से 3 जुलाई 2020 तक बेरीफिकेशन कार्य भी किया गया इसके उपरांत कोरोना का बहाना बना कर बेरीफिकेशन रोक दिया गया। चयनित अभ्यर्थियों द्वारा शासन की गाइड लाइन का पालन करते हुए सोशल मीडिया और ज्ञापन व अन्य माध्यमो से लगातार पुरजोर तरीके से अपना पक्ष रख शीघ्र ज्वाइनिंग की आवाज बुलंद करते रहे परन्तु शिक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री द्वारा इस मामले में दो शब्द भी नही कहे गए हम प्रदेश के लगभग 30594 युवा बेरोजगारी से तंग आ चके है तथा सरकार की बेरुखी से समस्त चयनित एवं बेटिंग प्राप्त अभ्यर्थियों द्वारा ज्ञापन देने के पश्चात आंदोलन किये गए परन्तु कुछ प्राप्त नही हुआ ।

इस कारण 5 सितंबर को में भी शिक्षक दिवश को काला दिवश के रूप में मनाते हुए अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल के साथ आमरण अनशन में बैठने के लिए विवश हु तब तक बैठेंगे जब तक शिक्षक भर्ती आदेश मिले या मृत्यु प्राप्त न मिल जाये। ज्ञापन देने में आरती अहिरवार प्रसंशा विश्वकर्मा अरविंद प्रजापती कमलू प्रजापति धर्मेन्द्र सुनकर किशोरीलाल सुनकर हरिचरन यादव सुशील सुनकर दीपक अहिरवार अनुपम प्रजापति रिंकू अहिरवार आकाश जाटव दीपक यादव राजा जी बुंदेला आदि रहे।