अधिक बिजली बिल से परेशान ग्रामीण, अधिकारी का नही है आता पता, रोजाना बैतूल से कर रहे अपडाउन

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला. ब्लाक के ग्रामीण क्षेत्रों में रतेड़ा,बोरी,सेमिरिया,सोनतलाई,जमदेहिकला जम्बाड़ा,सहित अन्य गांवों में अधिक बिजली बिल के कारण ग्रामीण खासे परेशान है अधिक बिलो ने उपभोक्ताओं को हैरान परेशान कर रखा है अधिकतर ग्राम में विधुत विभाग के लाइन मेन की मनमानी के चलते ग्रामीणों को बिना बिजली उपयोग किए ही अधिक बिल जमा करना पड़ रहा है पर्याप्त बिजली व्यवस्था नही होने के बावजूद ग्रामीणों को भारी भरकम बिल सौपा जा रहा है इसके कारण ग्रामीण खासे परेशान है ग्रामीण क्षेत्र में इन दिनों लाइन मेनो की मनमानी की जा रही है कम फीडर वाले क्षेत्र में अधिक बिजली की खपत की जा रही है जितनी खपत की जा रही है उतना बिल जमा नही होने के चलते ग्रामीणों के विधुत कनेक्शन काटे जा रहे है जबकि लाइन मेनो की साठ-गांठ के चले रसूखदार कृषको को उनके खेत ओर घरो में चोरी की बिजली जलाने की मोन अनुमति लाइनमैनों के द्वारा दी जा रही है इसके कारण इसका बोझ ग्रामीणों पर पड़ रहा है बिजली का उपयोग रसूखदार लोग कर रहे है उसका भुगतान गरीब उपभोक्ताओ को चुकाना पड़ रहा है खास बात है कि ग्रामीण फीडर की जिम्मेदारी संभालने वाले अधिकारी रोजना बैतूल से अपडाउन कर रहे है इसके कारण भी ग्रामीणों को खासी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण कमलेश ध्रुवे, किसान उइके, सुखलाल इवने, भुदु उइके, आदि ने बताया कि गांव में पर्याप्त बिजली नही दी जा रही है कुछ बड़े-बड़े किसानों के घरों और खेतों में हमेशा बिजली चालू रहती है जबकि गांव की बिजली सप्लाई एक ही है उसके बाद भी हम लोगो को बिजली क्यों नही दी जाती है बिना बिजली के रहना बहुत मुश्किल हो गया है पूरे माह में कम से कम एक सप्ताह ही बिजली की सप्लाई दी जाती है उसके बाद भी बिजली का बिल भारी भरकम दिया जा रहा है जबकि रसूखदार बड़े-बड़े किसानों के यहां बिजली का बिल कम क्यों दिया जाता है ऐसे में कही ना कही बिजली बिलों अधिक देना साठ-गांठ की ओर इशारा कर रहा है ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर से उच्च स्तरीय जांच की मांग कि है।

इनका कहना है.

अभी ऐसा कोई मामला हमारे संज्ञान में नही आया है ग्रामीणों को स्वंय यहां आकर शिकायत करना चाहिए शिकायत आने पर जल्द ही कार्यवाही की जायेगी

विनोद सोनी डी ई विधुत वितरण कम्पनी बैतूल