तीन दिवसीय अंतर जिला विश्वविद्यालय युवा महोत्सव के तहत दूसरे दिन गीत-संगीत के हुये विभिन्न कार्यक्रम

Scn news india

मनोहर

इंदौर -देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के तक्षशिला परिसर के सभागार में तीन दिवसीय अंतर जिला विश्वविद्यालय युवा महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। महोत्सव के दूसरे दिन के कार्यक्रमों का शुभारंभ मां सरस्वती के पूजन,माल्यार्पण व कुलगीत से हुआ। दूसरे दिन विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये।
अंतर जिला विश्वविद्यालय युवा उत्सव के दूसरे दिन माइम, स्कीट, वन एक्ट प्ले,शास्त्रीय कंठ संगीत एकल,शास्त्रीय स्वर वाद्य, शास्त्रीय ताल वाद्य, कोलाज,स्पॉट फोटोग्राफी एवं मेंहदी व क्ले मॉडलिंग विधा में विभिन्न जिलों के प्रतिभागियों ने भाग लिया। अंतर जिला विश्वविद्यालय स्तरीय युवा उत्सव प्रतियोगिता में वन एक्ट प्ले में कोट क्रमांक नौ के द्वारा प्रस्तुत की गई “रश्मि रति” नाट्य में सभी दर्शकों को बांधे रखा। रामधारी सिंह दिनकर की कालजेयी रचना से लिया यह “रश्मि रति” खंड करण – अर्जुन के मध्य कुरुक्षेत्र में हुए संवाद व करण वध का ये नाटकीय घटनाक्रम सभी दर्शकों को अंतिम समय तक बांधे रखा। वन एक्ट प्ले के अंतर्गत आठ जिलों के प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। बतौर निर्णायक की भूमिका में सत्यनारायण व्यास, अनिल चाफेकर व भवानी कोल ने अगले चरण के लिए अपने निर्णय दिए।
माइम , स्कीट, वन एक्ट प्ले प्रतियोगिता में सात टीमों ने भाग लिया । जिसके निर्णायक संजीव मालवीय , दिलीप लोहोकरे, निवेदिता वाकले रहे। जिसमें साइबर क्राइम , अनपढ़ सरकार, माता – पिता की सेवा सबसे बड़ा धर्म, राष्ट्रीय मंदी, आज के समाज की परिस्थिति जैसे मुद्दों को प्रतिभागियों द्वारा अपनी प्रस्तुति में दर्शाया गया।  मंच पर एक रूपए की मौत की प्रस्तुति ने सभी दर्शकों के मनोरंजन के साथ देश की आर्थिक परिस्थिति से जागरूक कराया । माइम प्रतियोगिता के अंतर्गत आठ टीमों ने भाग लिया। जिसके निर्णायक  संजीव मालवीय,दिलीप लोहोकरे, निवेदिता वाकले रहे। प्रतिभागियों द्वारा गंगा नदी प्रदूषण, मोबाइल एडिक्शन, सम्राट अशोक जीवन दर्शन, थर्ड जेंडर एजुकेशन जैसे विषयों पर प्रस्तुतियां दी गई ।
कंप्यूटर साइंस सभागार में शास्त्रीय कंठ संगीत एकल, शास्त्रीय स्वर वाद्य, शास्त्रीय ताल वाद्य विधा का आयोजन किया गया। जिसमें चयनित प्रतिभागियों को अगले पड़ाव के लिए महत्वपूर्ण सुझाव विशेषज्ञों द्वारा दिए गए। अंतर जिला विश्वविद्यालय स्तरीय युवा उत्सव में चित्रकला, स्पॉट पेंटिंग, मेहंदी व क्ले मॉडलिंग विधा में आठ जिलों के प्रतिभागियों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया जिसमें चित्रकला में गति व लय विषय पर विद्यार्थियों ने अपनी कला को प्रस्तुत किया। बतौर निर्णायक के रूप में राम जोंग, निरव दीक्षित, रचना शर्मा ने अहम भूमिका निभाई।
मिमिक्री विधा के अंतर्गत प्रतिभागियों ने कई राजनीतिक व बॉलीवुड सितारों की मिमिक्री की जिसमें नाना पाटेकर, प्रकाश राव, निम्की मुखिया, अक्षय कुमार जैसे किरदारों पर मिमिक्री आर्टिस्ट ने अपनी कला को प्रस्तुत किया। विश्वविद्यालय युवा उत्सव समन्वयक समिति सदस्य डॉक्टर संध्या वाजपेयी ने बताया की देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर में कई वर्षों से सतत युवा उत्सव का आयोजन किया जा रहा है।वर्तमान समय में पढ़ाई के साथ-साथ कई कलाओं के क्षेत्र में विद्यार्थियों की भागीदारी बढ़ती जा रही है, यह बहुत हर्ष का विषय है। भारतीय शास्त्रीय कलाओं को समझना और सीखने का एक सशक्त माध्यम रहा है। यहां आकर कलाकारों को अपनी कला को प्रदर्शित करने का एक सुनहरा अवसर उपलब्ध होता है।
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के इस तीन दिवसीय अंतर जिला विश्वविद्यालय स्तरीय युवा उत्सव के द्वितीय दिवस में आठ जिलों के प्रतिभागियों ने अपनी कला को मंच पर प्रस्तुत किया। चयनित प्रतिभागियों को अगले पड़ाव के लिए चुना जाएगा, जोकि विश्वविद्यालय का नेतृत्व करने के लिए राज्य स्तर पर भेजे जाएंगे। आयोजन के तीसरे दिन पाश्चात्य एकल गायन, पाश्चात्य समूह गायन, पाश्चात्य स्वर एवं ताल वाद्य, पोस्टर मेकिंग वाद-विवाद परिचर्चा व इंस्टॉलेशन विधाओं में जिला स्तर पर चयनित प्रतिभागी विश्वविद्यालय स्तरीय मंच पर अपनी कला को प्रस्तुत करेंगे। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर संजय जैन द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-MP08D0011464/63122/2019/WEB)  Toll free No -07097298142
error: Content is protected !!