जन हितैषी समस्याओं का कांग्रेस ने सौपा ज्ञापन-

Scn news india


छः सूत्रीय माँगो पर कराया ध्यानाकर्षण-
बोले कांग्रेस कार्यकर्ता खपत से अधिक आ रहा बिल, की जा रही उपभोक्ताओं के सामानों की कुर्की-
जनता में दिख रहा आक्रोश –

दिलीप पाल
आमला-ब्लाक कांग्रेस आमला से जुड़े दर्जन भर से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने छेत्र के उपभोक्ताओं की मौजूदगी में जिला उपाध्यक्ष कांग्रेस छन्नू बेले की अगुवाई में महामहिम राज्यपाल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, जिला कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह के नाम सम्भोधित ज्ञापन आज नयाब तहसीलदार सृष्टि डहेरिया को सौप जनहितैषी समस्याओं के सीघ्र निराकरण की मांग की गई।
गिनाई समस्या– पूर्व ब्लाक अध्यक्ष दादा शिवपाल सिंह ठाकुर ने सौपे ज्ञापन के माध्यम से बताया शहरी विद्युत उपभोक्ताओं सहित खेतिहर किसान एवं ग्रामीण विद्युत उपभोक्ता वर्तमान समय में बिजली की समस्याओं से जूझ रहे है।जिसका कारण वितरण कंपनी के कनिष्ठ यंत्री द्वारा खपत से अधिक बिल उपभोक्ताओं को दिया जाना है।इतना ही नहीं कोरोना काल से प्रभावित लोगो से बिल की भरपाई नहीं किये जाने पर उनके सामानों को भी कुर्क किया जा रहा है।जो गलत है।वहीं जिला उपाध्यक्ष छन्नू बैले ने बताया बिजली उपभोक्ताओं को शासन द्वारा दी जा रही सब्सिडी का लाभ भी नहीं दिया जा रहा है।छेत्र के किसानों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद नहीं मिलने से किसान सहकारी समितियों के चक्कर काट रहा है।राज्य शासन के कर्मचारियों को तत्कालीन मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथ की सरकार 5 प्रतिशत मंहगाई भत्ता दिये जाने के आदेश पारित किये थे।लेकिन न उन्हें आज तक मंहगाई भत्ते की एक भी क़िस्त जारी नहीं कि गई।तथा आदेश को वापस ले लिया गया है।मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस नेता चन्द्र शेखर सिंह चंदेल ने बताया किसानों की सुध लेने वाली भाजपा सरकार के कार्यकाल में छेत्र का किसान आज हैरान परेशान है।समय पर खाद बीज उपलब्ध हुआ और न ही यूरिया समय पर मिल पा रही है।ऐसे में किसान कैसे खेती को लाभ का धंधा बना सकेंगे यह बात विचारणीय प्रश्न का विषय है।पूर्व ब्लाक उपाध्यक्ष सुभाष देशमुख एवं कार्यवाहक अध्यक्ष प्रकाश तायवाड़े ने बताया शहरी एवं ग्रामीण छेत्र में आये अप्रवासी मजदूरों को शासन द्वारा किसी प्रकार के रोजगार की व्यवस्था नहीं कि गई है।जिसके कारण बैतूल की जनता एवं नगरीय ग्रामीण जनता में अत्यधिक आक्रोश देखा जा रहा है।
ये है मांगे-1-नगरीय एवं ग्रामीण विद्युत उपभोक्ताओं के बिलों की जांच कर खपत के आधार पर बिल लिया जाकर शासन द्वारा दी जा रही सबसिडी का उनके बिलो में समायोजन किया जाय।
2- सहकारी समितियों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद उपलब्ध कराई जाये।
3-पूर्व मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथ की सरकार में शासकीय कर्मचारियों को 5 प्रतिशत मंहगाई भत्ते के आदेश को बहाल कर उन्हें तत्काल मंहगाई भत्ता प्रदान किया जाये।
4-किसानो को किसान सम्मान निधि का एवं रबी की फसल की बीमा की राशि का तत्काल भुगतान किया जाय।
5 -शहरी एवं ग्रामीण अप्रवासी मजदूरों को तत्काल रोजगार उपलब्ध कराया जाय।
6- आमला छेत्र में अति वर्षा एवं चक्रवात से हुई किसानों को फसल का मुवाज़ा तत्काल दिया जाय।
ज्ञापन सौपते समय प्रमुख रूप से विजय पारधी, मंगलेश कामतकर, राजेश सूरे, अंकित सूर्यवंशी, सिमा अतुलकर सहित कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।