गौवंश पशुओं में वायरस जनित बीमारी के प्रसार की घटनाओं को दृष्टिगत रखते हुए प्रशासन मुस्तैद

Scn news india

चंद्रमणि विश्वकर्मा 

➥ पशुपालक लक्षण पाए जाने पर तुरंत संजीवनी हेल्पलाइन 1962 में दें सूचना
➥ गठान, अगले पैरों में सूजन हैं बीमारी के लक्षण

विगत दिनो जैतहरी, कोतमा एवं अनूपपुर के कुछ ग्रामों में गौवंश पशुओं में एक नयी वायरस जनित बीमारी के प्रसार की घटनाएँ सामने आयी हैं। उक्त बीमारी की रोकथाम एवं उपचार हेतु कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने पशु विभाग के अमले को सक्रिय रहने के निर्देश दिए हैं। उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ वीपीएस चौहान ने बताया कि यह एक नयी बीमारी है, जिसके लक्षण अप्रैल माह में उड़ीसा में प्राप्त बीमारी से मिलते हैं, हालाँकि इस बीमारी की आधिकारिक पुष्टि अभी तक नही हुई है।

डॉ चौहान ने बताया कि यह वायरस जनित बीमारी है, इसमें पशुओं (गौवंश) के शरीर में गठान एवं अगले पैरों में सूजन के लक्षण होते हैं। आपने बताया कि हालाँकि इस बीमारी में मृत्यु दर कम है, परंतु प्रसार संभव है। ज़िले में लगभग 12-14 ग्रामों में इस रोग की घटनाएँ अब तक जानकारी में आ चुकी हैं। आपने पशुपालकों से अपील की है कि संदर्भित लक्षण पाए जाने पर तुरंत संजीवनी हेल्पलाइन 1962 में सूचित करें ताकि समय से उपचार उपलब्ध कराया जा सके। आपने बताया कि विभाग से विशेषज्ञ दल द्वारा उक्त रोग की निगरानी की जा रही है।