बिजली विभाग के खिलाफ सोशलवार 15 से 30 अगस्त तक पुरे प्रदेश में -बिजली जन आंदोलन

Scn news india

मनोहर

भोपाल-प्रदेश की जनता इन दिनों बिजली विभाग की मनमानी से परेशान  है , कोरोना काल में जिंदगी की जद्दोजहत से परेशान जनता के लिए सरकार पैकेज पर पैकेज की घोषणा कर देश को फिर से रनवे पर लाने की जुगत में है तो वहीँ बिजली विभाग रनवे पर स्पीड ब्रेकर बनाने का काम कर रहा है। ये ठीक वैसा ही है कि  किसी मरीज को ग्युकोज की बोतल चढ़ा कर एवज में उसका उतना ही खून निकाल लेना। सरकार को शायद ये समस्या नजर नहीं आ रही हो । लेकिन ये अंदर ही अंदर ज्वालामुखी का रूप ले रही है। जिसका धुंआ सोशल मिडिया पर दिखाई देने लगा है।

एक ओर  मध्यप्रदेश के संवेदनशील मुख्यमंत्री कोरोना से हताहत जनता को संजीवनी देने कोरोना काल के बिजली के बिलों से  राहत देने का ऐलान  किया था। जिसमे जिन उपभोक्ताओं के अप्रेल माह के बिल 100 /- हो वे मई जून जुलाई में केवल 50 /-ही भरे , जिन उपभोक्ताओं के बिल 100 /- से 400 के भीतर हो वे केवल 100 /-ही भुगतान करें साथ ही जिन उपभोक्ताओं के बिल 400 /- से अधिक हो वे बिल की आधी राशि का ही भुगतान करें। जिसके आदेश भी मंत्रालय द्वारा ऊर्जा सचिव के हस्ताक्षर से जारी किये गए थे। लेकिन उसके उलट विभाग द्वारा मई जून जुलाई में भारी भरकम बिल उपभोक्ताओं को भेज सरकार के आदेश को धता बता  उपहास उड़ाते हुए  सरकार की किरकिरी करने जैसा कार्य किया है।

जिसकी सुगबुगाहट अब सोशल मिडिया पर दिखाई देने लगी है। बिजली विभाग की मनमानी से  त्रस्त उपभोक्ताओं ने सोशलवार का ऐलान कर दिया है जो पुरे प्रदेश में 181 पर शिकायतों के द्वारा शुरू किया जा रहा है। जिसका सन्देश होशंगाबाद संभाग से व्हाट्सएप पर जारी किया गया है। जो एक सार्वजनिक है जिसमे  15 अगस्त से 30 अगस्त तक बिजली विभाग से परेशान हो रहे उपभोक्ताओं से से अपील की गई है की वे अपनी शिकायत एक साथ सीएम हेल्प लाईन पर करे।  और विभाग द्वारा की जाने वाली गड़बड़ियों की शिकायत दर्ज कराये। जिसमे – बिजली की अघोषित कटौती ,भारी भरकम बिल का आना , मेंटेनेंस के नाम पर कटौती , घटिया बिजली उपकरणों की खरीदी ,बिजली गुल होने पर फोन बंद ,उपभोक्ताओं के प्रति दुर्व्यवहार आदि का उल्लेख किया गया है। जो निम्न है। –

व्हाट्सएप पर प्रचारित सन्देश –

बिजली जन आंदोलन
15 अगस्त से 30 अगस्त
बिजली समस्या से प्रभावित प्रत्येक उपभोक्ता का दायित्व है कि यदि उसे बिजली समस्या हो रही है तो इस जन आंदोलन में अपना योगदान दें सीएम हेल्पलाइन 181 पर अपनी समस्या दर्ज कराएं और शिकायत इतनी बड़ी संख्या में होना चाहिए की अधिकारियों और नेताओं को हमारे अधिकार एवं समस्या से भली-भांति अवगत हो जाए हमारी एकजुटता ही हमारी समस्या का समाधान करेगी लॉकडाउन के समय हम एकजुट नहीं हो सकते लेकिन सीएम हेल्पलाइन 181 पर कॉल करके हम एकजुटता बता सकते हैं इसलिए प्रत्येक उपभोक्ता अपनी समस्याएं दर्ज कराएं बड़ी संख्या में आखिर उन्हें मजबूर कर दे समस्या को हल करने के लिए बिजली का बिल समय पर जमा कराया जाता है लेकिन समय पर बिजली उपलब्ध नहीं कराई जाती जागरूक उपभोक्ता बने यह ना सोचें कि कोई दूसरा कॉल कर देगा स्वयं कॉल करें और दूसरे उपभोक्ताओं को भी जागरूक करें
हो सकता है आपने इससे पहले 181 पर शिकायत की हो और आपकी समस्या का समाधान ना हुआ हो लेकिन उस समय आप अकेले थे लेकिन आज पूरा मध्यप्रदेश आपके साथ हैं मध्य प्रदेश की जनता पहली बार एक ही समस्या को लेकर इतनी बड़ी संख्या में सीएम हेल्पलाइन 181 पर समस्या रजिस्टर्ड कराएगी अपना मनोबल कम ना करें और इस जन अभियान को मजबूत करें
बिजली जन आंदोलन दिनांक 15 अगस्त से शुरू होगा और 30 अगस्त तक चलेगा
निवेदन
प्रताड़ित बिजली उपभोक्ता
मध्य प्रदेश
यह मैसेज प्रत्येक उपभोक्ता तक एवं ग्रुपों में शेयर करें जिससे प्रत्येक उपभोक्ता जन आंदोलन से जुड़ सकें