सेन्ट्रल रेल्वे मजदूर संघ आमला-राष्ट्रव्यापी आंदोलन “रेल बचाओ देश बचाओ” का बिगुल बजाया

Scn news india

दिलीप पाल ब्यूरों
आमला -09 अगस्त 1942 अंग्रेजो भारत छोडो आंदोलन महान एवं क्रांतिकारी दिवस के 78 वी वर्षगांठ पर भारत की समस्त सेन्ट्रल ट्रेड यूनियनों ने केन्द्र सरकार के निजीकरण, श्रम कानूनों में संशोधन, और नई पेंशन योजना के विरोध में राष्ट्रव्यापी आंदोलन “रेल बचाओ देश बचाओ” का बिगुल बजाया है, इसी क्रम में एन एफ आई आर नई दिल्ली के आवाहन पर सेन्ट्रल रेल्वे मजदूर संघ आमला के सचिव श्री सतीश मीणा जी के नेतृत्व में सेंट्रल रेलवे मजदुर संघ कार्यालय आमला के प्रांगण में शाखा पदाधिकारियों के साथ सैकड़ों रेल कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन में भाग लिया | धरना एवं प्रदर्शन में सम्मिलित रेल कर्मचारियों को शाखा सचिव श्री सतीश मीणा जी ने संबोधित करते हुए बताया कि केन्द्र सरकार देश के सभी सरकारी संस्थानों का निजीकरण कर रही है जिसके दुष्परिणाम अभी से दिखने लगे हैं हाल ही में रेल्वे बोर्ड नई दिल्ली द्वारा आदेश जारी कर गैर संरक्षा कोटि के पदो में 50 प्रतिशत कमी करने के आदेश दिये गये हैं, निजीकरण के क्रम में देश के 109 रूट पर 151 गाडियों का संचालन निजी हाथों में सौंपा जा रहा है, श्रम कानूनों में परिवर्तन करके कार्पोरेट एजेंसी के के लिए सुविधाजनक बनाने का षड्यंत्र केन्द्र सरकार कर रही है, रेल का निजीकरण कर भारत की आम व गरीब जनता से उनके यातायात के सस्ते संसाधनों से वंचित करने का षड्यंत्र किया जा रहा है, युवाओं को सरकारी संस्थानों में रोजगार से वंचित रखने की नितियों आदि मजदूर विरोधी सरकार की ऐसी सभी नीतियों का सेन्ट्रल रेल्वे मजदूर संघ विरोध करती है!
धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से सीआरएमएस के पदाधिकारी सर्व श्री मुजाहिद खान ,छबीला प्रसाद , कलीराम ढंढारिया , अरविन्द मगरदे , नीरज बारसकर ۔हामिद खान ۔रंजन गुप्ता ۔युवा शाखा सचिव सर्व श्री दिनेश सोनी सी एस कुशवाहा दीपक मौर्य अरुण कुमार प्रभाकर कुमार प्रवेश कुमार आदि के साथ साथ सैकड़ों रेल कर्मचारियों ने श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुटता का संदेश दिया!
“निजीकरण धोखा है
संभल जाओ अब भी मौका है ”
सेंट्रल रेलवे मजदुर संघ जिंदाबाद
एन एफ आई आर जिन्दाबाद
डाक्टर एम राघवैय्या जिन्दाबाद