21 हजार दीपों की लड़ियों से जगमग होगा चित्रकूट; परिक्रमा क्षेत्र एवं रामघाट पर दिखेगा ऐतिहासिक नजारा

Scn news india

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india
चित्रकूट-अयोध्या में रामजन्मभूमि मंदिर के पांच अगस्त को हो रहे भूमि पूजन को लेकर भारत ही नहीं दुनिया भर के रामभक्तों में उत्साह चरम पर है. वहीं, पांच अगस्त को प्रभु श्रीराम की कर्मभूमि एवं धर्म नगरी चित्रकूट के प्रत्येक परिवार में पांच-पांच दीपक जलाने का संकल्प तो लिया ही गया है साथ ही श्री कामतानाथ प्राचीन मुखारविंद से लेकर पूरे परिक्रमा क्षेत्र में एवं रामघाट पर कम से कम 21 हजार दीपों की लड़ियों से चित्रकूट क्षेत्र को जगमग करने का फैसला आज रामायणी कुटी में सम्पन्न हुई बैठक में लिया गया है. इसके अलावा नगर के विभिन्न मठ मंदिरों में पांच अगस्त को दिन में सुंदरकांड व हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। कई स्थानों पर अखंड रामायण का पाठ शुरू कर दिया गया है. सभी मठ-मंदिरों, संस्थाओं एवं प्रमुख स्थानों पर लाइटिंग भी लगाई गई है.

चित्रकूट में नगर से लेकर गांवों तक घर-घर दीपक जलेंगे। श्रीरामचरित मानस में लंका विजय पर अयोध्या लौटने समय भगवान श्रीराम की अगवानी के लिए लोगों ने घर-घर दीप माला सजाकर स्वागत का बखान किया गया है ठीक उसी तरह चित्रकूट के सभी संत-महंतों, सामाजिक संस्थाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित नगर वासियों ने पांच अगस्त को एक और दीपावली का रूप देने के लिए घर-घर दीप जलाने की कमान थाम ली है, प्रत्येक घर में आटे से दीपक तैयार करने का आग्रह किया जा रहा है. इसे भव्य रूप देने के लिए लोगों की अलग अलग जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है.

दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव अभय महाजन ने बताया कि पूरी दुनिया में जो भी लोग भगवान राम को अपना पूर्वज मानते हैं, उन सबके लिए यह गौरव का क्षण है, हम सब सौभाग्यशाली हैं हमने हाल ही में धारा 370 को हटते देखा और फिर भगवान राम का मंदिर बनते देख रहे हैं. श्रीराम मंदिर आंदोलन में जो भक्त बलिदान हुए हैं, उनकी पुण्याई का प्रतिफल हम सबको मिल रहा है, राम भक्तों का बलिदान भुलाया नहीं जा सकता. यह पल सही मायने में असली दिवाली का है.

श्री महाजन ने कहा कि 5 अगस्त को भारत रत्न नानाजी देशमुख के आवास सियाराम कुटीर में प्रसाद वितरण के साथ दीनदयाल शोध संस्थान के राम दर्शन सहित सभी प्रकल्पों में हनुमान चालीसा एवं सुंदर कांड व प्रसाद वितरण का आयोजन किया जाएगा. इसके अलावा सभी स्थानों पर लाइटिंग भी कराई जाएगी. उन्होंने चित्रकूट क्षेत्र के सभी लोगों से घर-घर आटे के दीपक तैयार करके प्रज्वलित करने का भी संदेश दिया है.

उन्होंने बताया कि आज चित्रकूट क्षेत्र के प्रमुख गणमान्य लोगों के साथ परिक्रमा सामूहिक रूप से की जाएगी, जिसमें परिक्रमा क्षेत्र में सभी लोगों को अधिक से अधिक दीप प्रज्वलित करने की जिम्मेदारी दी जाएगी. प्रयास यही रहेगा कि चित्रकूट क्षेत्र के सभी लोगों के सहयोग से 21 हजार दीपों का यह संकल्प 51 हजार तक या और उससे अधिक तक पहुंचे.

रामायणी कुटी में संपन्न हुई इस बैठक में कामदगिरि प्रमुख द्वार से महंत मदन गोपाल दास जी महाराज, रामायणी कुटी के महंत राम ह्रदय दास जी महाराज, दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव अभय महाजन, सीएमओ नगर पंचायत रमाकांत शुक्ला, भाजपा जिला अध्यक्ष चित्रकूट चंद्रप्रकाश खरे, कार्तिकेय द्विवेदी, सदगुरु सेवा संघ ट्रस्ट से राजेन्द्र मिश्रा, मंदाकिनी सेवा ट्रस्ट से अतुल प्रताप सिंह, खोही के प्रधान अरुण त्रिपाठी, बाबूलाल पांडे, डॉ. भरत मिश्रा, डॉ अशोक पांडे, संतोष मिश्र, अशोक तिवारी प्रमुख रूप से रहे उपस्थित।