घोड़ाडोंगरी- बांसपुर में मनरेगा में शासकीय कर्मचारी की हाजिरी लगाकर किया भुगतान

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 

घोड़ाडोंगरी- बांसपुर में मनरेगा में शासकीय कर्मचारी की हाजिरी लगाकर भुगतान करने का मामला सामने आया है।  जनपद सदस्य ने इसकी शिकायत कलेक्टर से की है। जनपद सदस्य हसीना अखंड का कहना है कि पूर्व में इसकी शिकायत जनपद पंचायत घोडाडोंगरी के सीईओ से भी की थी लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की वही सीईओ दानिश खान का कहना हैै कि जनपद सदस्य द्वारा इस संबंध मेंं कोई शिकायत नहीं की गई।
जनपद सदस्य हसीना पाताल अखंड ने बताया कि ग्राम पंचायत बांसपुर जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के रोजगार सहायक द्वारा शासकीय सेवक की मनरेगा मे हाजिरी भरी गई है। जो मस्टोल क्र . एम.पी. 31-006-021-002 / 182 में उमेश जो शासकीय सेवक है। जो सहायक सचिव का रिश्तेदार भी है। जिसकी मनरेगा में हाजिरी भरी गई है ।इस तरह अनेक लोगों की हाजरी भर कर फर्जी तरीके से आय से अधिक संपत्ति अर्जित कर लिया है। इसी तरह प्रधानमंत्री आवास में अपने रिश्तेदारों को फायदा पहुचाया गया है । और जिसकी शिकायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी को करने के बाद भी कोई उचित कार्यवाही नही की गई । इसी तरह महोदय जी ( सी.ई.ओ. ) द्वारा घोड़ाडोंगरी जनपद में अन्य ग्राम पंचायतों में जैसे ग्राम पंचायत कान्हावाड़ी में चौपाल निर्माण की शिकायत एवं ग्राम पंचायत हीरापुर में चौपाल निर्माण की अनियमितता की शिकायत होने के बाद भी कोई उचित कार्यवाही नही कि गई। जिससे यह प्रतित होता है कि यह अनियमितता का कार्य मुख्य कार्यपालन अधिकारी के संरक्षण में हो रहा है।

इनका कहना है-
जनपद सदस्य से संबंधित कोई शिकायत नहीं मिली है
बांसपुर में शासकीय कर्मचारी के नाम से मनरेगा में हाजिरी लगाकर भुगतान संबंधित जनपद सदस्य से कोई शिकायत नहीं मिली है। पंचायतों कि कोई भी शिकायत मिलती है तो उसकी समिति बनाकर जांच कराई जाती है।
दानिश खान सीईओ जनपद पंचायत घोडाडोंगरी

इनका कहना है-
शासकीय कर्मचारी कि मनरेगा में हाजिरी लगाकर भुगतान कर दिया गया था इसकी शिकायत होने पर राशि वापस मनरेगा में डाल दी गई है।
राजेश भोरसे, रोजगार सहायक बांसपुर