स्वस्थ विभाग के लेब टेक्नीशियन की लाहपरवाही से संक्रमित हो सकते है लोग

Scn news india

एक ओर जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज बढ़ रहे हैं वहीं दूसरी ओर उपचार में लापरवाही भी सामने आ रही है।

दिलीप पाल ब्यूरों
आमला. कोविड मरीजों के इलाज में बरती जा रही लापरवाही कहीं बड़ी मुसीबत खड़ी न कर दे। कोरोना काल मे कोरोना के बचाव के लिए शासन प्रशासन द्वारा निरंतर बचाव के अथक प्रयास किए जा रहे है इसके लिए बाकायदा स्वस्थ विभाग को सचेत रहने और बचाव के लिए लोगो को जागरूक करने के निर्देश दिए गए है इसके बाद भी स्वस्थ्य विभाग के लेब टेकशियन की लापरवाही के चलते कोरोना की चपेट में ओर भी सामान्य मरीज आ सकते है क्यों कि लेब टेकीशियन के द्वारा बिना मास्क ओर बिना ग्लब्स पहने ही कोरोना के सन्दिग्ध मरीजो का सेंपल लिया जा रहा है बताया जा रहा है कि बीते दिनों गोविद कालोनी निवासी रेलवे कर्मी के सेंपल की जांच की गई है सेंपल की जांच करने के समय लेब टेकशियन द्वारा मास्क ओर ग्लब्स नही पहना गया था कोरोना के सन्दिग्ध मरीजो के सेंपल लेते है लेब टेकीशियन भी उनके सम्पर्क में आया ही होगा लेकिन लेब टेकीशियन की लापरवाही से सामान्य मरीज संक्रमित हो सकते है अगर लेब टेकशियन पर जल्द ही कोई कार्यवाही नही की गई तो आमला शहर में कई सामान्य मरीज कोरोना की चपेट में आने की पूरी सम्भावना बनी हुई है। स्वस्थ विभाग के एक कर्मचारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि कर्मचारियों ने भी इस बात की शिकायत स्वस्थ विभाग को की गई थी इसके बाद भी स्वास्थ विभाग इस मामले में अपना पल्ला झाड़ रहा है कर्मचारियों ने उक्त लेब टेक्नीशियन को कोरन्टीन करने की मांग भी कर्मचारियों ने की थी लेकिन इस ओर स्वास्थ विभाग कोई ध्यान देने को तैयार नही है ऐसे में संक्रमण बढ़ने का डर बना हुआ है

इनका कहना है…..

ऐसा कोई मामला मेरे संज्ञान में नही है सभी कर्मचारी पीपी किट पहने हुए ही सेंपल लिए जाते है उक्त लेब टेकशियन की कोई शिकायत नही हुई है।

डॉ अशोक नरवरे बीएमओ आमला