नक्सलवाद की परिभाषा बताए:- आदिवासी संगठन शाहपुर

Scn news india

नवील वर्मा ब्यूरों
शाहपुर:- आज जयस & युवा आदिवासी विकास संगठन शाहपुर के द्वारा राष्ट्रपति  और प्रधानमंत्री म के नाम आनुविभागीय अधिकारी शाहपुर को ज्ञापन सौप ,इसमें मुख्य रूप से आदिवासी संवैधानिक अधिकार की बात करने वाली झारखण्ड की आदिवासी नेत्री बेलोसा बबिता कच्छप को ATS गुजरात पुलिस द्वारा नक्सल कहकर गिरफ्तार किया गया।

जिसके विरोध में आज संगठन ने पुर जोर तरीके से विरोध कर जल्द रिहा करने और नही करने पर पुरे देश में पुर जोर तरीके से आंदोलन करने को कहा गया,ज्ञापन देने में मुख्यरूप से युवा आदिवासी विकास संगठन मध्यप्रदेश के संस्थापक प्रदीप उइके जी और जयस शाहपुर प्रभारी मुकेश धुर्वे ,चन्द्रशेखर उर्फ़ राजा धुर्वे,जयस जिला सचिव डोमाँसिंग कुमरे,युवा नेता सानु कवड़े थे।

संगठन के लालसिंग भलावी ने कहा की गैर क़ानूनी रूप से आदिवासियों को गिरफ्तार किया जा रहा है,जो निंदनीय है, सानु कवड़े ने कहा की देश में आदिवासियों के हक को नोच नोच कर लोग खा रहे है,सरकारें मौन है, ऐसे ही आदिवासियों के हक की बात करने वाली आदिवासी नेत्री बेलोसा बबिता कच्छप को नक्सल बोल गिरफ्तार किया गया है,हम ATS से जवाब मांगते है,नक्सल कौन होता, और बेलोसा बबिता को जल्द रिहा करे,चंद्रशेखर उर्फ़ राजा धुर्वे ने कहा की अगर 5 वी अनुसूची लागु नही होती है तो गली से लेकर गांव,गांव से लेकर शहर तक आंदोलन किये जायेंगे, और हमारे हक अधिकार को समझाने वाली नेत्री को रिहा करे। केंद्र और गुजरात सरकार नक्सलवाद की परिभाषा बताये।युवा संगठन के आकाश नावरे,लालसिंग भलावी,क्रेश कुमार उइके,आशीष उइके,छोटेलाल भलावी,जुगन नर्रे,मो.सिद्धिक कुरैशी,लोकेश,रविन्द्र वाड़ीवा,सुरेन्द्र कुमार टेकाम जी और अन्य मौजूद थे।