भक्ति भाव से मनाया गया श्री पार्श्वनाथ निर्वाण महोत्सव,सकल जैन समाज ने ऑनलाइन पूजन,विधान कर निर्वाण लाडू चढ़ाया

Scn news india

 

स्वप्निल जैन ब्यूरों
खनियांधाना।
कोरोना संक्रमण काल मे राज आज्ञा को मानते हुए सकल जैन समाज के सभी घटक ऑनलाइन अनुष्ठानों के माध्यम से समस्त धार्मिक एवं सामाजिक आयोजनों में भक्ति भाव पूर्वक हिस्सा लेकर धर्माराधना करते हुए जिन शासन की मंगल प्रभावना कर रहा है।

श्रावण शुक्ल सप्तमी को सकल जैन समाज के साथ श्री दिगम्बर जैन मुमुक्षु मण्डल,अखिल भारतीय जैन युवा फेडरेशन,सर्वोदय अहिंसा ट्रस्ट एवं पण्डित टोडरमल सर्वोदय ट्रस्ट द्वारा 23 वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ भगवान का निर्वाण कल्याणक महोत्सव मोक्ष सप्तमी के रूप में मनाया। श्री पार्श्व प्रभु के निर्वाण दिवस पर बड़ी संख्या में श्रावक श्राविकाओं ने ऑनलाइन श्री जिनेन्द्र पूजन एवं पार्श्वनाथ पूजन के साथ निर्वाण काण्ड पढ़कर मोक्ष कल्याणक का प्रतीक निर्वाण लाडू चढ़ाकर मोक्ष सप्तमी की खुशियां मनाई।
43 वें आध्यात्मिक ई शिक्षण शिविर के नौवें दिवस पर पण्डित शांतिकुमार पाटिल,पं.समकित शास्त्री एवं पं.जिनेन्द्र शास्त्री ने विधि विधान पूर्वक निर्वाण काण्ड पढ़कर महोत्सव मनाया और पार्श्व प्रभु का जीवन चरित्र बताया। प्रवचनों की श्रखंला में गरूदेवश्री के मांगलिक के साथ डॉ.हुकमचंद भारिल्ल, पं.अभयकुमार शास्त्री, डॉ.संजीवकुमार गोधा एवं पं.धर्मेन्द्रकुमार शास्त्री के श्रीमुख से माँ जिनवाणी का रसास्वादन किया। रात्रि के समय भजन गायक गौरव सौगानी की भजन संध्या ने सभी का मन जीत लिया।

शिविर का समापन आज –

फेडरेशन के मीडिया प्रभारी दीपकराज जैन एवं सचिन मोदी ने बताया कि पं.टोडरमल जी की 3 सौ वीं जयंती पर 19 जुलाई से चल रहे 43 वें आध्यात्मिक ई शिक्षण शिविर का विधिवत समापन आज मंगलवार 28 जुलाई को होगा। जिसमें प्रातः 6.10 से डॉ.हुकमचंद भारिल्ल के अरिहंत चेनल पर प्रवचन,6.40 से श्री जिनेन्द्र पूजन एवं श्री समयसार महामण्डल विधान की पूर्णता,8.30 से गुरूदेवश्री का मांगलिक के पश्चात विविध विद्धावनों के मंगल प्रवचन एवं संगोष्ठी के पश्चात संध्या 7 बजे से श्री जिनेन्द्र भक्ति एवं रात्रि 7.30 बजे से शिविर का भव्य समापन वरिष्ठ समाज सेवी अनन्तभाई सेठ एवं राजेश भाई जबेरी मुंबई के मुख्य आतिथ्य में होगा। जिसमें सकल समाज से सम्मिलित होकर लाभ लेने की अपील एस. पी.भारिल्ल,पं.पीयूष शास्त्री,पं.संजय शास्त्री सर्वोदय अहिंसा,पं.रूपेंद्र शास्त्री के साथ आयोजक मण्डल द्वारा की गई है।