कमिश्नर नर्मदापुरम् श्री श्रीवास्तव ने बीईओ भीमपुर को तत्काल प्रभाव से किया निलंबित

Scn news india

नवील वर्मा ब्यूरों 

बैतूल -कमिश्नर नर्मदापुरम् संभाग श्री रजनीश श्रीवास्तव ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी भीमपुर श्री एमडी डहरवाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उनका मुख्यालय सहायक आयुक्त जनजातीय कार्यविभाग बैतूल नियत किया है। निलंबन अवधि में उन्हें जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।
विकासखंड शिक्षा अधिकारी भीमपुर द्वारा अपने कार्यालयीन प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरती गई। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी के लिपिक को 15 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त दल भोपाल द्वारा हाल ही में ट्रेप किया गया था। इसके अलावा कलेक्टर बैतूल द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन से स्पष्ट हुआ है कि उनके द्वारा क्रमोन्नति/सातवे वेतनमान की एरियर्स राशि के कुल 11 प्रकरण माह जनवरी 2018 एवं 2019 से लंबित है जिनमें कोष एवं लेखा से अनुमोदन प्राप्त किये जाने की कार्यवाही भी नही की गई। इसके अलावा चिकित्सा व्यय की प्रतिपूर्ति से संबंधित 2 प्रकरण में विभागाध्यक्ष कार्यालय से आवंटन प्राप्त होने के बावजूद आहरण की कार्यवाही न करने के कारण राशि लेप्स हो गई तथा 1 सेवानिवृत्त शिक्षक का माह अक्टूबर 2019 से स्वीकृति आदेश जारी होने के उपरांत भी अवकाश नगदी का देयक तैयार नही कराया गया। इसके अलावा 5 शिक्षक तथा 1 दैनिक वेतन भोगी लंबी अवधि से अनुपस्थित रहे, इसके बाबजूद उनके विरूद्ध कोई कार्यवाही प्रस्तावित नही की गई एवं न ही उस अवधि का कोई निराकरण किया गया। जाँच प्रतिवेदन की उपरोक्त स्थितियों के प्रकाश में शासकीय कार्यो में लापरवाही, शिथिलता तथा शासकीय निर्देशो की अवहेलना के दोषी पाये जाने पर कमिश्नर नर्मदापुरम् संभाग श्री रजनीश श्रीवास्तव ने बीईओ भीमपुर को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश जारी किये हैं। कमिश्नर द्वारा उक्त प्रकरण के संबंध में आगे भी निरंतर जांच की जाएगी एवं दोषी पाए जाने पर संबंधित के विरूद्व कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
ज्ञातव्य है कि कमिश्नर नर्मदापुरम् ने संभाग के तीनों जिले के संभागीय एवं जिला अधिकारियों को पूर्व में निर्देश दिए गए थे कि वे अपने कार्यालय के अधिनस्थ स्टाफ का टेबिल निरीक्षण कर यह सुनिश्चित करें कि जन सामान्य से जुडे, सेवानिवृति एवं पेंशन के एवं विभागीय व हितग्राही मूलक योजनाओं से संबंधित लंबित प्रकरणों का निरीक्षण कर यथाशीघ्र उनका निराकरण सुनिश्चित कराएं।  कमिश्नर श्री श्रीवास्तव ने संभाग के संभागीय एवं जिला अधिकारियों को निर्देशित किया है कि लंबित प्रकरणों के संबंध में जिला कलेक्टर को सूचित करें ताकि प्रकरणों का त्वरित निराकरण किया जा सकें। उक्त निर्देशो के पश्चात भी  इस तरह के प्रकरण संज्ञान में आने पर संबंधितो के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।
उल्लेखनीय है कि कमिश्नर श्री श्रीवास्तव द्वारा विभागीय व कार्यालयीन लंबित प्रकरणों की निरंतर समीक्षा की जा रही है एवं लंबित प्रकरणों के निराकरण में किसी भी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्व सख्त कार्यवाही की जा रही है।