लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को दबाने की कोशिश जिला जनसंर्पक अधिकारी सुरेन्द्र तिवारी ने कहा मीडिया स्वत्रंत है मीडिया कर्मी कर्फ्यू ओर लॉक डाउन में करे कवरेज

Scn news india

दिलीप पाल ब्यूरों आमला 

आमला. लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को दबाने की कोशिश स्थानीय अधिकारियों द्वारा की जा रही है अधिकारियों द्वारा कर्फ्यू एव लॉक डाउन की समय अवधि में मीडिया पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है जबकि सम्पूर्ण देश मे मीडिया को स्वत्रंत रखा गया है मीडियाकर्मि कर्फ्यू एव लॉक डाउन की समय अवधि में कवरेज नही करेंगे तो अखबारों में समाचार कैसे प्रकाशित करेंगे लेकिन स्थानीय अधिकारियों की मंशा है कि आमला की मीडिया लॉक डाउन, कर्फ्यू एव बिना मास्क के लोग निकल रहे है सोशल डिस्टनसिंग की एंटी खबर प्रकाशित ना करे लॉक डाउन ओर कर्फ्यू की पॉजिटिव खबर लगने का दबाव पत्रकारों पर बनाया जा रहा है जबकि सत्यता के आधार पर जो खबर प्रकाशित की जा रही है उन खबरों की करतरनो के आधार परअधिकारियों पर कार्यवाही की जा रही है इस लिए अधिकारी कलमकारों पर बेवजह दबाव बना रहे है ऐसे में पत्रकार जगत को एकजुट होकर स्थानीय अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए बाध्य होना पड़ेगा क्योंकि अधिकारियों द्वारा अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने और ईमानदार निःशुल्क सेवा दे रहे कमलकरो कि कलम को झुकाने का दबाव बनाया जा रहा है जो कि बहुत ही निंदनीय है स्थानीय कलमकारों ने स्थानीय अधिकारियों की कार्यप्रणाली को लेकर खेद प्रकट किया है और जल्द ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर अधिकरियों द्वारा किए गए कार्यो के सबूत के साथ लिखित शिकायत की जायेगी। इस विषय मे जिला जनसम्पर्क अधिकारी सुरेन्द्र तिवारी से दूरभाष पर चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि कर्फ्यू ओर लॉक डाउन की समय अवधि में मीडियाकर्मी स्वत्रंत है मीडियाकर्मियों के लिए कोई प्रतिबंध नही है आप सभी समाचारो का संकलन करे मीडिया को स्वत्रंत रखा गया है उन पर कोई प्रतिबंध नही लगया गया है।