जूनियर सैल्समैन भर्ती- ठप पड़ी भर्ती प्रक्रिया को गति देने की मांग,नाराज अभ्यार्थी पहुंचे सीएम आवास

Scn news india

हर्षिता वंत्रप चैनल हेड भोपाल
भोपाल -म०प्र० के  सहकारिता विभाग द्वारा 3629 पदों पर चयनित  कनिष्ठ संविदा विक्रेता  (जूनियर सेल्समैन)  सरकार की जिलों में दस्तावेज सत्यापन प्रक्रिया व् उपर्युक्त नीति के आभाव में 3 वर्षों से बेरोजगार घर पर बैठने को मजबूर है।अब उनका दर्द भी फुट पड़ा है। जिन्होंने शिवराज सरकार से शीघ्र प्रक्रिया शुरू करने एवं चयनित  अभ्यर्थियों को बेरोजगारी के दंश से मुक्ति दिलाने की मांग की है।

कनिष्ठ संविदा विक्रेता  (जूनियर सेल्समैन) चयनित  अभ्यर्थी संघ ने बताया की  कनिष्ठ संविदा विक्रेता विज्ञप्ति क्रमांक/साख/विधि 2018/24995 भोपाल दिनांक: 14/09/2018 जारी विज्ञप्ति के अनुसार सहकारिता विभाग ने वर्ष 2018 में जूनियर सेल्समैन के 3629 पदों के लिए एमपी ऑनलाइन के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन मंगाए थे, जिसके एवज में विभाग ने इन युवाओं से 200 रुपए प्रति आवेदक फीस की वसूली की थी, जिसमें करीब 2 लाख से अधिक आवेदकों ने आवेदन किया था, तीन महीने पहले 20 मार्च 2020 को मेरिट लिस्ट जारी होने के बाद राज्य सरकार द्वारा 4 मई से दस्तावेज सत्यापन प्रक्रिया शुरु कराने के निर्देश सभी जिलों की सहकारिता बैंकों में दिए गए थे। सतना जिले में तो प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी थी परंतु जारी लॉकडाउन के कारण 2 मई को भोपाल से जारी आदेश क्रमांक /साख/सी.बी 2/2020/1599 द्वारा सत्यापन प्रक्रिया को आगामी आदेश तक स्थगित कर दिया गया था।

अब जूनियर सैल्समैन भर्ती प्रक्रिया को तत्काल प्रारंभ करने की मांग उठी है। इन अभ्यार्थियों ने प्रक्रिया शुरू कराने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है, इस संदर्भ में चयनित अभ्यार्थियों द्वारा विभाग के सभी अधिकारियों से संपर्क किया गया है, प्रत्येक जिले में मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर महोदय को भी ज्ञापन दिया गया है। ट्विटर पर ट्रेंड कराने की कोशिश के बाद अब इस संबंध में मंगलवार को म.प्र. कनिष्ठ संविदा विक्रेता चयनित अभ्यर्थी संघ का एक दल मुख्यमंत्री आवास पहुँचा, जहां पर उन्हें ज्ञापन सौंपा गया। नवनिर्वाचित सहकारिता मंत्री डॉ० अरविंद भदौरिया जी को ज्ञापन दिया गया जिसमें उन्होंने जल्द प्रकिया शुरू करने का आस्वासन दिया, इसके बाद सहकारिता आयुक्त श्री आशीष सक्सेना एवं संयुक्त आयुक्त श्री अरविन्द सेंगर जी से भी मिलने की कोशिश की गई, इसके पश्चात पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और प्रमुख सचिव श्री उमाकांत उमराव को भी ज्ञापन दे कर  जल्द प्रक्रिया शुरू कराने की मांग की गई थी ।

इनका कहना है-
♦सहकारी समितियों में विक्रेताओं की कमी के कारण युवा, जनता व अन्नदाता किसान परेशान हो रहे हैं, हम चाहते है सभी जिलों में दस्तावेज सत्यापन प्रक्रिया को शीघ्र अति शीघ्र पूर्ण किया जाए।

– विनोद नागवंशी
(चयनित अभ्यर्थी,जिला-छिंदवाड़ा)

♦हम 3 माह से सहकारिता आयुक्त कार्यालय भोपाल में संपर्क कर रहे हैं। सत्यापन की प्रकिया में देरी हो रही है,
हम चाहते हैं सत्यापन प्रक्रिया को अब पुनः शुरू किया जाए।
बलराम विश्वकर्मा
(चयनित अभ्यर्थी जिला-जबलपुर)

♦इस समय राशन दुकानों में सैल्समैन की कमी है, जिससे आम जनता और किसान काफी परेशानी है, अब तो मैरिट लिस्ट भी जारी हो गई तो जल्द से जल्द नियुक्ति देनी चाहिए।
ओमप्रकाश रजक
(चयनित अभ्यर्थी, चरगवां)