लूट डकैती के मामले में फरार 4 आरोपियो को भालूमाड़ा पुलिस ने धर दबोचा

Scn news india

चंद्रमणि विश्वकर्मा अनूपपुर
अनुपपुर/जमुना । 31 मई 2020 को थाना भालूमाडॉ अंतर्गत ग्राम बरबसपुर सोन नदी पुल के पास छह नकाबपोश लोगो ने राजनगर के कालरी श्रमिक को रास्ता रोककर उसके साथ मारपीट करते हुए 23 हजार रुपए सहित उसके पास से अन्य सामग्री की लूट की घटना को अंजाम दिए थे
जिस पर फरियादी संजय कुमार राठौर पिता भैया लाल की शिकायत पर भालूमाडॉ थाने में मामला दर्ज किया गया था

उक्त लूट डकैती जैसे गंभीर अपराधों पर पुलिस अधीक्षक द्वारा गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे
जिसमें पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व साइबर सेल की मदद से 7 जुलाई को दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था शेष चार आरोपी फरार थे इन फरार आरोपियों की सघनता से तलाश करते हुए 10 जुलाई को चारों आरोपियों को पकड़ने में पुलिस ने सफलता पाई
थाना प्रभारी भालूमाडॉ रामनाथ आर्मो ने बताया कि उक्त मामले में अपराध क्रमांक 192/20 धारा 392, 397, 34ताहि कायम कर जांच की जा रही थी
जांच में पांच से ज्यादा आरोपियों के नाम होने पर धारा 395 एवं 201 बढ़ाई गई थी दो आरोपियों को पकड़ने के बाद फरार चारों आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन व साइबर सेल तथा भालूमाडॉ पुलिस के द्वारा कई जगहों पर छापामार कार्यवाही की गई आरोपियों से संबंधित जानकारियां एकत्र की गई जिसमें साइबर सेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही और जानकारी मिलने पर चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया आरोपियों के पास से 4 मोबाइल वारदात में उपयोग होने वाले दो मोटरसाइकिल बिना नंबर की हीरो होंडा डीलक्स एक नीली कलर और दूसरी लाल कलर सहित ₹4 हजार नगद बरामद किया गया है आरोपियों में सभी भालूमाडॉ थाना क्षेत्र के हैं जिसमें आरोपी मनोज सिंह गोंड़ पिता परमेश्वर उम्र 23 वर्ष को ग्राम करहनी थाना मरवाही छत्तीसगढ़ से पकड़ा गया, दूसरा आरोपी बाबूराम पनिका पिता भूप राम उम्र 22 वर्ष, तीसरा आरोपी पुष्पेंद्र गौतम पिता साधारण उम्र 24 वर्ष, चौथा आरोपी प्रेम सिंह पिता सरजू सिंह उम्र 23 वर्ष इन तीनों आरोपियों को अलग-अलग जगहों पर ग्राम शिकारपुर से गिरफ्तार किया गया हैl

जिन्हें न्यायालय में पेश किया गया थाना प्रभारी ने बताया कि सभी आरोपी 20 -24 साल के युवक हैं जिसमें एक आरोपी नाबालिक है यह सब अपने शौक मौज मस्ती के लिए लूट जैसे जघन्य अपराध करते थे और घटना को अंजाम देने के बाद कुछ दिनों के लिए गांव से बाहर चले जाते ,
संजय राठौर से ₹23 हजार जो लूटे गए थे उसमें से ₹4 हजार जप्त किया गया है बाकी आरोपियों ने खर्च करना बताया है।