जागरूकता अभियान/ दिन में 1 बार बच्चों का मोबाइल नंबर चेक करें, सोशल मीडिया से बच्चे गलत संगत में पड़कर हो जाते है झांसे का शिकार

Scn news india

आशीष /आयुष
महिला अपराधों के साथ-साथ समाज में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए महिला सेल निरमा सेल चाइल्ड लाइन तथा सामाजिक संगठन के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है मंगलवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने ताप्ती महिला स्वावलंबन केंद्र पहुंचकर महिलाओं को जागरूक किया। इस दौरान महिलाओं को हेल्पलाइन नंबर और आत्महत्या रोकने के लिए पुलिस द्वारा चलाए जा रहे हैं अभियान की जानकारी दी।

निर्भया प्रभारी ममता दीवान ने महिलाओं को किसी भी तरह के अपराध का संदेश होने पर तत्काल पुलिस को सूचना देने के लिए प्रेरित किया। महिला सेल प्रभारी एसआई कविता नागवंशी निर्भया सेल प्रभारी ए एस आई ममता दीवान एवं महिला आरक्षक संतोषी रघुवंशी, आरक्षक शालू परमार, रूपा सरिता बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति की अध्यक्ष गोरी पदम और चाइल्ड लाइन सदस्य चारू वर्मा ने महिलाओं को जानकारी दी। सेल प्रभारी कविता नागवंशी ने कहा कि हेल्प लाइन नंबर डायल 100,1090,1098 एवं आसपास सेवा के लिए जारी किए गए तीनों नंबर पर जानकारी दी।

बेटी की सुरक्षा के लिए रहे सतर्क

पुलिस टीम ने स्वावलंबन केंद्र की महिलाओं से कहा कि दिन में एक बार अपने बच्चे के मोबाइल नंबर चेक करना न भूले। अक्सर सोशल मीडिया के माध्यम से बच्चे गलत संगत एवं सोशल मीडिया के झांसे का शिकार हो जाते है। ऐसे में निगरानी जरूरी है ।समाज मैं महिलाओं के प्रति अपराध कम करने में हर व्यक्ति की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। इसलिए जरूरी है कि हर व्यक्ति बेटियों की सुरक्षा को लेकर चिंता करें