महान वीरांगना दुर्गावती का चरित्र सदैव स्मरणीय रहेगा – ठाकुर

Scn news india

आशीष /आयुष 

सारनी :- भारत का गौरवपूर्ण इतिहास महान नारियों और वीरांगनाओं के चरित्र से भरा हुआ है । गोंडवाना राज्य की महारानी दुर्गावती का चरित्र भी भारतीय इतिहास के पृष्ठों पर स्वर्णाक्षरों में अंकित है ।उनका चरित्र सदैव स्मरण किया जाता रहेगा । महारानी दुर्गावती शौर्य , पराक्रम , वीरता और साहस की प्रतिमूर्ति थी ।

उन्होंने पूरे धैर्य और साहस के साथ प्रतिकूल परिस्थितियों का डटकर मुकाबला किया । अपने अद्भुत पराक्रम से मुगल सेना को युद्ध में पराजित किया ।उनका युद्ध कौशल अद्वितीय था । उक्त विचार सरस्वती विद्या मंदिर में रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में सतपुड़ा सरस्वती शिक्षा समिति के सचिव योगेन्द्र ठाकुर ने व्यक्त किए ।

कार्यक्रम के प्रारंभ में महारानी दुर्गावती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए । योगेन्द्र ठाकुर द्वारा महारानी दुर्गावती के जीवन चरित्र और उनके व्यक्तित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला गया । इस अवसर पर अंबादास सूने , मुरारीलाल मालवीय , लालबाबू गिरि , दिनेश मेवाड़ा , सतीश कुमार , संतोष प्रजापति , प्रकाश , मनीष चौहान एवं राजेन्द्र तिवारी सहित अनेक लोग उपस्थित थे ।