रेत माफिया से महफूज नहीं सेना के जवान के परिजन व संपत्ति हथियारों की दम पर जवान के वृद्ध पिता के खेत से रेत उत्खनन कर रहे माफिया

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद
अजयगढ़= जिले के अजयगढ़ क्षेत्र की केन नदी की लंबे समय से कोख छलनी कर रेत का अवैध उत्खनन करने वाले माफिया के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि वह देश की सीमा पर तैनात सेना के जवान की संपत्ति व परिजनों को भी नहीं बख्स रहे हैं। मामला अजयगढ़ थाना क्षेत्र के चन्दोरा चोकी अंतर्गत ग्राम बल्दूपुरवा का है। जहां जगदेव लोधी पिता स्वामीदीन लोधी उम्र लगभग 65 वर्ष जिनका पुत्र भारतीय सेना में कार्यरत है। जिससे वह अकेले ही खेती कर परिवार का भरण पोषण करते हैं। कुछ समय से उनके खेत पर ग्राम जिगनी के दबंग रेत माफिया लल्लू यादव पिता भगत यादव और कल्लू यादव पिता भईया लाल यादव द्वारा जेसीबी मशीन से जबरन रेत का उत्खनन किया जा रहा है। रोकने पर जान से मारने और खेत में जिंदा गाड़ने की धमकी दी गई है। जिसकी शिकायत वृद्ध द्वारा चंदोरा पुलिस चौकी में करने पर चोकी प्रभारी द्वारा उत्खनन कर्ताओं को रेत खोदने से मना करने का आश्वाशन देकर बिना रिपोर्ट दर्ज किये फरियादी वृद्ध को वापस घर भेज दिया गया।

सेना के जवान के वृद्ध पिता ने बताया कि उक्त दबंगों द्वारा रात के अंधेरे में प्रतिदिन हथियारों के दम पर मेरे खेत से जबरन रेत का उत्खनन किया जा रहा है। चोकी पुलिस अनसुना कर रही है, रेत उत्खनन करने वाले कई हथियारबंद लोगों के साथ खेत से रेत निकाल रहे हैं। जिसे रोकने एवं दबंगों पर कार्यवाई की मांग के लिये कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी को नामजद शिकायती आवेदन सौंपा गया है। अब देखना यह है कि देश की रक्षा के लिये तैनात सेना के जवान के पिता को और संपत्ति की सुरक्षा और दबंग रेत माफिया पर कार्यवाई के लिये कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी द्वारा क्या कदम उठाये जाते हैं।
इनका कहना है
मेने बाबा को लेकर खुद गया था उनके खेत ओर उनके कहने पर कल्लू यादव व उनके साथियों को फटकार भी लगाई थी उसके बाद वहां कोई नही गया और इनके खेत की जांच तहसीलदार कार्यालय व खनिज विभाग देखेगा वो किसकी जमीन है
सुशील शुक्ला चौकी प्रभारी चन्दोरा चौकी