’घर-घर जाकर राजस्व विभाग अमले द्वारा किया जा रहा है बी-1 वाचन’

Scn news india

चंद्रमणि विश्वकर्मा अनूपपुर ब्यूरों 

भोपाल-कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर द्वारा राज्य शासन के निर्देशानुसार राजस्व विभाग के अमले को नामांतरण बँटवारे प्रकरणो का अभियान के तौर पर निराकरण करने के निर्देश दिए गए हैं। उक्त के अनुक्रम में राजस्व अधिकारियों सहित पटवारियों द्वारा बी-1 का वाचन गाँव-गाँव जाकर किया जा रहा है। कलेक्टर श्री ठाकुर द्वारा राजस्व अधिकारियों को सम्बंधित क्षेत्र में शत प्रतिशत बी-1 वाचन किए जाने हेतु सक्रिय निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही आपने यह भी कहा है कि नामांतरण एवं बँटवारे के सम्भावित समस्त प्रकरणो को आरसीएमएस पोर्टल पर दर्ज करें एवं निर्धारित समयावधि में उनका निराकरण किया जाना सुनिश्चित करें।

उल्लेखनीय है कि पंजीकृत प्रकरणों का निराकरण म.प्र. भू-राजस्व संहिता 1959 एवं लोक सेवा गारण्टी अधिनियम में उल्लेखित निर्धारित समय सीमा अविवादित नामांतरण हेतु 30 दिन, विवादित नामान्तरण प्रकरण 180 दिन, अविवादित बंटवारा प्रकरण का निराकरण 90 दिवस की सीमा में किया जाना सुनिश्चित किया जाना है। आवेदक स्वयं भी इस अभियान के दौरान लोक सेवा केन्द्र, एम.पी. ऑनलाईन या ऑनलाईन भी सीधे आर॰सी॰एम॰एस॰ पोर्टल पर आवेदन सकते हैं। इन आवेदनों को भी अभियान में शामिल कर निराकरण किया जायेगा।

बँटवारा नामांतरण प्रकरणों के निराकरण हेतु समस्त कार्यवाही तत्संबंधी क्षेत्राधिकार के राजस्व न्यायालय में ही सम्पादित की जायेगी। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि प्रकरणों का निराकरण विधि अनुसार कार्यवाही पूर्ण करते हुये आदेश पारित किया जाकर प्रकरणों में रिकार्ड दुरुस्ती सुनिश्चित की जाये एवं दुरस्त रिकार्ड (संशोधन भू-अभिलेख) की प्रति आवेदक को प्रदाय की जाये। अभियान के तहत वही प्रकरण निराकृत माने जायेंगे जो आर॰सी॰एम॰एस॰ पोर्टल में दर्ज एवं पंजीकृत हों।

राज्य शासन के निर्देशानुसार नामान्तरण एवं बंटवारा हेतु आवेदन प्राप्त करने की कार्यवाही 08 जून से 22 जून तक। प्रकरणों में आदेश के पूर्व तक की समस्त कार्यवाही पूर्ण करना यथा-नोटिस, सुनवाई, स्थल निरीक्षण प्रतिवेदन आदि 08 जून से 09 जुलाई तक। पंजीयन दिनांक से निर्धारित समयावधि में प्रकरणों में अंतिम आदेश जारी करना होगा। अंतिम आदेश की तिथि से 3 दिवस की अवधि में पारित आदेशों पर अमल करना सुनिश्चित करना होगा।