स्पॉट फाइन/जुर्माना अधिरोपित करने वाले सक्षम प्राधिकारी

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 
यदि कोई व्यक्ति/संस्थान/दुकानदार/प्रतिष्ठान के द्वारा उपरोक्तानुसार दिये गये प्रतिबंधों/निर्देशों का उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित क्षेत्र के कार्यपालिक दण्डाधिकारी अपने क्षेत्र के अंतर्गत मौके पर ही निर्धारित स्पॉट फाइन/जुर्माना रसीद देते हुए स्पॉट फाइन की राशि वसूल कर सकेंगे।
जहां कोई व्यक्ति इन संक्षिप्त प्रतिवेदनों के आधार पर स्पॉट फाइन/स्थल दण्ड की राशि देने से इंकार करता है, वहां विस्तृत जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
ऐसे दुकान/प्रतिष्ठान जिनमें दो गज की दूरी का पालन नहीं हो रहा व एक समय में पांच से अधिक व्यक्ति पाये जाते हैं, उनका निरीक्षण भी समय-समय पर उपरोक्तानुसार शासकीय कर्मी करते रहेंगे एवं उल्लंघन होने पर एकपृष्ठीय प्रतिवेदन बनायेंगे। संबंधित कार्यपालिक मजिस्टे्रट उपरोक्तानुसार निर्धारित स्पॉट फाइन प्रथम उल्लंघन करने पर करेंगे। द्वितीय उल्लंघन पर उस दुकान/प्रतिष्ठान को तीन दिवस के लिए बंद करेंगे। तृतीय उल्लंघन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
कलेक्टर का यह आदेश आमजनता को संबोधित है। वर्तमान में ऐसी परिस्थितियां नहीं है और न ही यह सम्भव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति या समूह को दी जाकर सुनवाई की जा सके। यह आदेश एकपक्षीय पारित किया गया है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 तथा एपिडेमिक एक्ट 1897 के तहत मप्र शासन द्वारा जारी किए गए विनियम 23 मार्च 2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187, 188, 269, 270, 271 के अंतर्गत दण्डनीय है एवं उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध इन धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील किया गया है।