स्वास्थ्य विभाग द्वारा इटारसी पिपरिया मै कोरोना सैम्पल टेस्टिंग मशीन लगाने का कार्य शुरू

Scn news india

मनीष मालवीय ब्यूरों 

होशंगाबाद // मध्य प्रदेश के जिला मुख्यालय होशंगाबाद में अब कोरोना वायरस के सेंपल के टेस्ट संभाग में किए जाएंगे लगातार मरीजों के सैंपल भोपाल एम एम्स भेजना पड़ रहा था। अब जिले को आत्मनिर्भर करने के लिये जिले स्तर पर ही जांच शुरू करने की तैयारी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है हरदा बैतूल होशंगाबाद में कोरोना वायरस सेम्पल टेस्टिंग मशीन लगाने जा रहे है , होशंगाबाद जिले मे दो जगह स्थापित की जाएगी जिसमें एक इटारसी ओर पिपरिया हॉस्पिटल का चयन किया गया है साथ ही संभाग के हरदा ओर बैतूल में एक एक मशीन लगाई जाएगी । जिसके लिये स्वास्थ विभाग द्वारा जिला चिकित्सालय और सीएमएचओ ऑफिस को नोटिस जारी किए जा चुके हैं । मशीन के लगाने से पहले बायोसेफ्टी कैबिनेट बनाने के निर्देश सीएमएचओ कार्यालय को दिए गए हैं स्वास्थ्य विभाग द्वारा इटारसी पिपरिया का कार्य शुरू हो गया है जल्द ही बायो सेफ्टी केबिनेट बनते ही मशीन लगाकर टेस्टिंग की जाने लगेगी । राज्य के स्वास्थ्य महकमे में सैंपल टेस्टिंग के लिए मेडिकल कॉलेज आत्मनिर्भरता को करने की दिशा में बड़ा कदम बढ़ाया है होशंगाबाद जिले की सभी कोरोना सेम्पल को एम्स भोपाल भेजा जाता है जहां से रिपोर्ट 2 से 3 दिन में मिल पाती है कई बार अधिक समय होने से सैंपल भी फेल होने की संभावना बनी रहती है ऐसे में अब होशंगाबाद के सैंपल होशंगाबाद जिले में ही टेस्टिंग किए जा सकेंगे एक मशीन से 1 दिन में 50 से अधिक जांच की जा सकेगी होशंगाबाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा दो मशीनों की स्वीकृति जारी की गई है ऐसे में दोनों को जिले की दो तहसीलों में अलग चल सके स्थापित किया जा रहा है स्वास्थ्य विभाग को सैंपल भेजने में असुविधा का सामना ना करना पड़े इटारसी में सबसे अधिक कोरोना मरीज भी मिले थे जिसके कारण इटारसी अस्पताल में एक मशीन को स्थापित किया जा रहा है वही भौगोलिक दृष्टि से दूरस्थ क्षेत्र पिपरिया में टेस्टिंग मशीन लगाई जाएगी