भीषण गर्मी में भी भवन निर्माण कार्य है चालू, भविष्य में पेयजल संकट गहराने की आशंका

Scn news india

दिलीप पाल ब्यूरों आमला 

आमला. एक और जहां आम जन को पीने के पानी के लिए अभी से भटकना पड़ रहा है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में अब भी भवन निर्माण कार्य बदस्तूर चालू है।भवन निर्माण कार्य में हजारों लीटर पानी व्यर्थ बहाया जा रहा है जिसके लिए न तो ग्राम पंचायत स्तर पर और न ही जनपद पंचायत स्तर पर कोई एक्शन लिया जा रहा है। आमला विकास खंड की बहुत सी पंचायतो में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकारी तथा कुछ निजी भवन निर्माण कार्य चालू है। बहुत से ग्रामीण क्षेत्रों में पानी कि किल्लत शुरू हो चुकी है, दूर दूर से पानी भरने के लिए लोग मजबूर हो गए हैं। गर्मी के प्रकोप को देखते हुए सबसे पहले सभी प्रकार के निर्माण कार्यों पर प्रतिबंध लगाया जाना अति आवश्यक है, और पीने के पानी की व्यवस्था सुचारू रूप से चलती रहें ऐसी व्यवस्था बनाई जानी चाहिए किन्तु इस ओर किसी भी जिम्मेदार का ध्यान नहीं है।


खेड़ली बाजार सरपंच रानी योगेश रघुवंशी से जब इस संबंध में चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि हमारे यहां भी कुछ जगह निर्माण कार्य चालू है जिन्हें कार्य बंद करने हेतु मौखिक रूप से कहा गया है। फिलहाल परिस्थिति अनुसार पेयजल आपूर्ति कि जा रही है। ट्यूबवेल में वाटर लेवल भी थोड़ा नीचे हो गया है। जिससे पानी की टंकी धीरे भराती है। फिर भी पूरे ग्राम में कम से कम पीने के पानी हेतु व्यवस्था बनाई गई है।
खेड़ली बाजार ग्राम पंचायत सचिव शंकर यादव ने बताया कि सभी प्रकार के निर्माण कार्यों पर प्रतिबंध लगाने हेतु उच्च अधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा गया है जैसे ही निर्देश प्राप्त होते है उसी प्रकार कार्यवाही की जायेगी। ग्राम में पेयजल आपूर्ति सुचारू रूप से चले अभी यही प्रयास किए जा रहे हैं। ग्राम में निजी भवन निर्माण कार्य के साथ साथ प्रधानमंत्री आवास योजना के पात्र हितग्राहियों के भवन निर्माण भी प्रारंभ है।
भविष्य में गहराते जल संकट को देखते हुए यदि सभी प्रकार के निर्माण कार्यों को नहीं रोका गया तो क्षेत्र में पीने के पानी के भी लाले पड़ जाएंगे। पेयजल संकट की ओर किसी भी जिम्मेदार अधिकारी, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि या शासन के किसी भी नुमाइंदे का ध्यानाकर्षण अब तक नहीं है।