बहु की शिकायत पर अध्यापिका सास नौकरी से बर्खास्त – फर्जी मार्कशीट मामला

scn news india

मुरैना -जिला मुरैना शिक्षा विभाग में फर्जी मार्कशीट लगा सरकारी नौकरी करने का मामला उजागर हुआ है। खुलासा होने के बाद उक्त शिक्षिका को 4 सितम्बर को बर्खास्त  कर दिया गया है। बता दे कि   उक्त शिक्षिका की शिकायत भी  उसी की बहु के द्वारा जनसुनवाई में की गई थी। जो सही पाई गई।

मुरैना के जरेरुआ प्राइमरी स्कूल में पदस्थ श्रीमती प्रेमलता गोयल  विगत 20 वर्ष पूर्व शिक्षिका के पद पर नियुक्त की गई थी। सब ठीक चल रहा था।  किन्तु प्रेमलता के बेटे का सड़क दुर्घटना में निधन होने के बाद सास बहु का झगड़ा होने लगा और मामला न्यायलय तक पंहुच गया।

वही बहु ने सास को सबक सीखने जिला कलेक्टर की जनसुनवाई में सास की पोल खोलने शिकायत दर्ज कराई की प्रेमलता ने जो मार्कशीट नौकरी के लिए सरकारी दस्तावेज में प्रस्तुत की है वो फर्जी है। बतौर सबुत दो दस्तावेज पेश किये जिसमे प्रेमलता गोयल  की मार्कशीट और  प्रेमलता की बेटी की जन्म तिथि का सत्यापित प्रमाण पत्र।

यही दो दस्ता वेज प्रेमलता की गले की हड्डी बन गए और नौकरी से हाथ धोना पड़ा और अब फर्जी मार्कशीट पर नौकरी हथियाने की धारा के तहत न्यायालय  के चक्कर अलग लगाने पड़ेंगे।

मामला ऐसे खुला 

प्रेमलता गोयल ने जो अंकसूची नौकरी के लिए पेश की थी उसमे तिथि और नाम में गड़बड़ी पाई गई। प्रेमलता की जन्म तिथि 3 अगस्त 1964 बताई है, जबकि उनकी ही बेटी आरती के स्कूल प्रमाणपत्र में जन्मतिथि 15 जून 1976 है। यानी मां-बेटी की उम्र में महज 12 साल का अंतर है। जो संदेहास्पद था। जिसकी जाँच में पता चला की प्रेमलता के पास दो मार्कशीट थी।  पहली यूपी के आगरा की और दूसरी मध्य प्रदेश की जिसके आधार पर नौकरी हासिल की थी जो फर्जी पाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!